Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

परमात्मा के सपनों का भारत बनाना (भाग 2)

परमात्मा के सपनों का भारत बनाना
(भाग 2)

स्वतंत्रता दिवस – 15 अगस्त पर आध्यात्मिक संदेश

  1. सभी को परमातम ज्ञान रतन दें और उन्हें सिखाएं कि, कैसे ये हमारी आंतरिक शक्ति और मन की स्थिरता को बढ़ाते हैं – हमें परमात्मा ने अपनी ‘मानसिक शक्ति’ और ‘भावनात्मक लचीलापन’ बढ़ाने के लिए आध्यात्मिक ज्ञान का महत्व सिखाया है। आज, आजादी के सालों बाद, हमने बाह्य रूप से बहुत सारी सफलताएं हासिल कर लीं हैं जैसे कि; जीवन के हर क्षेत्र में सभी के लिए बेहतर सुविधाएं, बेहतर आर्थिक विकास, साथ ही बेहतर चिकित्सा सुविधाएं और कई प्रकार के मनोरंजन के साधन और खेलों में भी बहुत सफलता मिली है। लेकिन इसके साथ ही, लोगों के जीवन में नकारात्मक परिस्थितियाँ बढ़ गई हैं, बहुत से लोग अपने भविष्य को लेकर अनिश्चित हैं। ऐसे में परमातम ज्ञान उनको सशक्त बना सकता है और सभी के जीवन में आवश्यक निश्चितता ला सकता है।
  2. भारत देश अपने देवी-देवताओं के लिए जाना जाता है। आइए, अपने जीवन में दिव्यता लाएं और देवी-देवताओं समान दिव्य बनें – हमारे पूरे देश भर में देवी-देवताओं के अनेकों मंदिर हैं, और भारत के हर गांव, हर शहर- हर जगह उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। इसके अलावा, हम अपनी प्रार्थनाओं में उनकी महानता की प्रशंसा करते हैं, भजन-कीर्तन और गीत गाते हैं, और उनकी महानता और दिव्यता से भरी कहानियां- काव्य पढ़ते और सुनते हैं। परमपिता परमात्मा भी भारत को उसकी दिव्य चेतना और भक्ति के कारण बहुत प्यार करते हैं। लेकिन उनको उससे भी ज्यादा पसंद आएगा, यदि हम सभी भी देवी-देवताओं की तरह दिव्य बनें, और अपने जीवन में पवित्रता और दिव्यता लाएं। शुद्ध खान-पान और उत्तम जीवन शेली हमारे देवी-देवताओं के दिव्य जीवन का हिस्सा थीं। तो आइए, उनकी दिव्यता के गुण को आत्मसात करें और आध्यात्मिक रॉयल्टी को अपने जीवन का नेचुरल हिस्सा बनाएं| तो आएं, हम सभी मिलकर परमात्मा को भारत के प्रति उनके अपार प्रेम और पालना का रिटर्न दें। क्योंकि, उन्होंने ही भारत को इतना सुंदर और दिव्य बनाया था और वह फिर से इसे कुछ हज़ार साल पहले वाली पूरे विश्व की ‘सोने की चिड़िया’ बनाना चाहते  हैं।
  3. आइए, भारत में आध्यात्मिक जागृति की लहर पैदा करें – परमात्मा की भारत से एक बहुत महत्वपूर्ण इच्छा है कि, यहां आध्यात्मिक जागृति की लहर पैदा हो। और इस लहर से पूरे विश्व को जागृत करना है कि, जिस परमात्मा को इस समय दुनिया की सभी आत्माएं खोज रही हैं उन्हें उनसे मिलाने और पाने की सभी की इच्छाओं को पूरा करना है, साथ ही यह भी सिखाना है कि, इस पूरे वर्ल्ड ड्रामा में सभी को कैसे उनसे जुड़कर; एक सुंदर भाग्य का वर्सा लेना है। इस तरह से भारत पूरे विश्व के लिए आध्यात्मिक प्रकाश स्तंभ (लाईट हाऊस) बन जाएगा।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

आपका मन भी एक बच्चा है

आपका मन भी एक बच्चा है

मन हमारे बच्चे जैसा है। इसलिए जब हम अपनी जिम्मेदारियां निभाते हैं, तो भी हमारी प्रायोरिटी इस बच्चे की भलाई होनी चाहिए। हमें इसका सही

Read More »