Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

सुप्रीम गुरु: परमपिता परमात्मा से आशीर्वाद लेने के 5 तरीके

सुप्रीम गुरु: परमपिता परमात्मा से आशीर्वाद लेने के 5 तरीके

  1. अपने प्यारे परमपिता के साथ दिन की शुरुआत करें – हर दिन सुबह उठकर अपने सुंदर आत्मिक स्वरूप का अनुभव करें और साइलेंट सोल वर्ल्ड में स्वयं को देखें और परमपिता परमात्मा के आध्यात्मिक प्रकाश और शक्तियों में खो जाएं। हर रोज इस अनुभव में कम से कम 20 मिनट व्यतीत करें। यह परमपिता परमात्मा के साथ जुड़ने और उनसे प्यारे प्यारे आशीर्वाद प्राप्त करने की श्रेष्ठ चाबी है।
  2. स्वयं को दिव्य, पॉजीटिव और शक्तिशाली बनाएं – एक सम्पूर्ण व्यक्ति वह है जो अच्छाई और दिव्यता से भरपूर हो, जो हमेशा सही सोचता और करता हो और सभी परिस्थितियों में स्ट्रॉन्ग फील करता हो। जब आप स्वयं को इन तीन बातों में भरपूर अनुभव करते हैं, तो परमात्मा आपको अपने प्यार, खुशी और सम्मान से भर देंगे और आप जीवन के हर क्षेत्र में सफलता का अनुभव करेंगे।
  3. आध्यात्मिक ज्ञान को अपना निजी खजाना बनाएं – जितना अधिक आप हर दिन आध्यात्मिक ज्ञान को सुनते हैं, उतना ही अधिक आप परमात्मा के साथ गहरे और अदृश्य बंधन में बंधते जाते हैं। परमपिता परमात्मा ज्ञान का सागर है और वे हमारे जीवन को ज्ञान और विवेक के खजाने से भर देते हैं, हम ज्ञान के द्वारा परमात्मा से डिवाइन ब्लेसिंग प्राप्त करते हैं और परमात्म ज्ञान का मंथन करने से, दूसरों के साथ शेयर करने से और इसे जीवन के हर कार्य में एप्लाई करने से इन आध्यात्मिक खजानों से भर जाते हैं।
  4. अपने जीवन में परमपिता परमात्मा से सबसे ज्यादा प्यार करें – परमपिता परमात्मा पूरे ब्रह्मांड में सबसे सुंदर और दिव्य चेतना हैं। जितना अधिक आप उनसे प्रेम करते हैं और उन्हें अपने सबसे प्यारे साथी के रूप में सदा अपने साथ रखते हैं, उतना ही अधिक आप खुश, हल्का और भरपूर महसूस करते हैं। उनका आनंद भरा आशीर्वाद आपको टच करके, आपको एक नया इंसान बना देगा, जो परमात्मा की प्योर लाइट में हंसता मुस्कुराता है, देखता बोलता है, चलता है और हर कार्य करता है।
  5. अपने हर रिश्ते में परमात्मा के मैजिक को अनुभव करें – हमारे जीवन में आने वाला हर व्यक्ति परमात्मा का स्पेशल चाइल्ड और फरिश्ता है। इसलिए अपने सभी रिश्तों से संतुष्ट रहना और परमात्मा के सुंदर गुणों और अच्छाई से भरपूर करना माना, हमारे लिए उनके गहरे प्रेम का रिटर्न देना है। तो जितना अधिक हम ऐसा करते हैं, उतना ही अधिक परमात्मा हमसे खुश होकर, हमारे मन और दिल को लगातार ब्लेस करते रहते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए