Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरुरी शुद्ध खान पान और हवा (भाग-1)

अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरुरी शुद्ध खान पान और हवा (भाग-1)

आजकल हम सभी एक ऐसी दुनिया में रह रहे हैं जहां के वातावरण में काम, क्रोध, लोभ, मोह अहंकार जैसे पांच विकारों के नेगेटिव वाइब्रेशंस समय के साथ-साथ, बहुत सी मनुष्य आत्माओं द्वारा रेडिएट किए जा रहे हैं। इसी तरह से बहुत सी गंभीर बीमारियां, जो मनुष्यों के लिए जानलेवा हैं, समय के साथ बढ़ती जा रही हैं। तो आइए, जानते हैं कि, इन दोनों बातों में क्या कनेक्शन है? जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारा शरीर, भोजन के ऊपर, जल के ऊपर और हवा के ऊपर निर्भर करता है, लेकिन पिछले कुछ सालों में देखा गया है कि, सब्जियों, फलों और अनाजों में मिलावट होने से, यहां तक कि पिए जाने वाले पानी में भी मिलावट, और बढ़ती हुई कारों की संख्या और इंडस्ट्रीलाइजेशन के द्वारा हवा में प्रदूषण और विषैली गैसों की मिलावट की वजह से, हमारे शरीरों में गंभीर बीमारियां पैदा हो रही हैं।

लेकिन, फिजिकल अशुद्धियों और  मिलावट को छोड़ कर, एक अलग तरह की मिलावट हमारे भोजन, जल और हवा में मौजूद है जो कि, इस दुनिया की करोड़ों आत्माओं के नेगेटिव वाइब्रेशन द्वारा रेडिएट हो रही हैं। पांच विकार; वह नॉन फिजिकल अशुद्धियां हैं जिनका सब्जियों  पर, फलों पर और अनाजों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है, और जब हम इन्हें ग्रहण करते हैं, तो पानी और हवा में मिले हुए बहुत से अशुद्ध वाइब्रेशंस की वजह से मानव शरीर में फिजिकल और मेंटल इलनेस बढ़ती जा रही है। वातावरण में रेडिएट हुई यह एनर्जी विकारों की नेगेटिव एनर्जी जो है हमारे देह अभिमान के द्वारा  पैदा होती है जिन्हें मनुष्य और अन्य प्राणी रेडिएट करते हैं। ऐसे वाइब्रेशन लोगों के नेगेटिव एक्शन से आते हैं, और जो आत्माऐं उन्हें रेडिएट करती हैं, उनकी लाइफ में नेगेटिव परिस्थितियां लाने के साथ-साथ, वे हमें भी भोजन, जल और हवा के माध्यम द्वारा प्रभावित करती हैं, और जिससे हमारी फिजिकल बॉडी के अंदर स्थित स्पिरिचुअल एनर्जी यानि आत्मा की क्वालिटी भी प्रभावित होती है। हमारे शरीरों में इस प्रकार के सूक्ष्म बदलाव की वजह से, बहुत सारी बीमारियां आती हैं और साथ ही साथ ये हमारी आत्मा को भी दुष्प्रभाव पहुंचाती हैं।

(कल जारी रहेगा)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

मित्रता को रिन्यू करें और आध्यात्मिक बाँडिंग को बढ़ाएं

मित्रता को रिन्यू करें और आध्यात्मिक बाँडिंग को बढ़ाएं

आजकल लगातार बढ़ती जिम्मेदारियों के कारण, मित्रता कहीं पीछे छूट जाती है। और  कभी-कभी आपसी मतभेदों के चलते हम आहत महसूस करते हैं और दोस्तों

Read More »