Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

आइए प्रेम और आनंद के दूत बनें (भाग 1)

December 19, 2023

आइए प्रेम और आनंद के दूत बनें (भाग 1)

जीवन एक ऐसी खूबसूरत यात्रा है जिसमें हम सभी के लिए प्रेम और खुशी सबसे अच्छे अनुभव हैं। क्योंकि ये दोनो ही फीलिंग्स हमारे जन्म लेने के समय से ही हमारे साथ होते हैं और हम उन्हें अपने दिल में संजोकर बड़े होते हैं। हम अपना पूरा जीवन; इन दो प्यारी भावनाओं को सबके साथ बांटते और उनसे प्राप्त करते हुए बिताते हैं। साथ ही, यह भी देखा गया है कि, मनुष्य जीवन का प्रत्येक उद्देश्य, इन दो भावनाओं और उनके अनुभव पर ही केंद्रित होता है। क्योंकि, वे महत्वपूर्ण हैं और किसी भी उम्र में एक खूबसूरत जीवन के अनुभव की नींव हैं, लेकिन साथ ही हमारे लिए यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि समय के साथ साथ दुनिया में प्यार और आनंद बढ़ नहीं रहा है, बल्कि कम हो रहा है। आज लोग पहले की तुलना में बहुत जल्दी और आसानी से एक-दूसरे से दूर होते जा रहे हैं और साथ ही पहले की तरह, सभी के दिलों में एक-दूसरे के लिए शुभकामनाएं नहीं हैं। दरअसल एक्सपेक्टेशन (अपेक्षाएं) और डिजायर (इच्छाएं) दो ऐसी मेन नेगेटिव एनर्जी हैं, जो दुनिया में प्रेम और आनंद को सबसे ज्यादा कम या रिप्लेस कर रही हैं। तो आइए, नीचे शेयर किए गए संदेश के जरिए विश्व के लिए प्रेम और आनंद के दूत बनें:

 

  1. हर सुबह, दुनिया में हर किसी के लिए और पूरे दिन मिलने वाले हर उस व्यक्ति के लिए – अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, कार्यालय के सहयोगियों और परिवार के सदस्यों के लिए प्यार की शुद्ध भावना पैदा करें । जैसे ही आप सुबह उठते हैं, प्रतिज्ञा लें – हर कोई मेरा करीबी है, मेरा अपना है और मेरा उनके साथ एक सुंदर रिश्ता है, जिसे मैं अपने अच्छे बोल और कर्म के जरिए, अपने हाव भाव से और अधिक सुंदर बनाना चाहता हूं। मैं अपने जीवन के हर रिश्ते को अच्छी तरह से और बिना किसी प्रॉब्लम से निभाने के लिए जिम्मेदार हूं। इसके अलावा, दिन में नियमित रूप से एफरमेशन करें – मैं अपने हर रिश्ते को अपनी संतुष्टता, समझ, स्वीकृति, विनम्रता, त्याग और देने के दृष्टिकोण के गुणों से समृद्ध बनाना चाहता हूं।

(कल भी जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

जिंदगी की दौड़ में ना भागें…. प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

जिंदगी की दौड़ में ना भागें….प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

हर मनुष्य खुशियां चाहता है। हम अपने लिए खुशियों को ढूंढते रहते हैं और अपने हर एक लक्ष्य; हमारा स्वास्थ, सुंदरता, धन या अपनी भूमिकाओं

Read More »