Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

आइए प्रेम और आनंद के दूत बनें (भाग 3)

December 21, 2023

आइए प्रेम और आनंद के दूत बनें (भाग 3)

  1. हम सभी न सिर्फ परमात्मा के बच्चे हैं, परंतु उनके मित्र भी हैं। इसलिए यह आवश्यक है कि – हम अपने जीवन में जो भी कार्य करें, उसे परमात्मा को अर्पण करें। ऐसा करने से हमारा हर कार्य विशेष होने के साथ साथ प्रेरणादायक भी होगा। हमें अपने जीवन के सफर में स्वयं भी सदा परमात्मा का हाथ थामें रखना चाहिए और दूसरों को भी यह तरीका समझना चाहिए कि – कैसे परमात्मा का हाथ थाम कर आगे बढ़ा जा सकता है। आज संसार में भौतिक सफलताओं और आधुनिक जीवनशैली के पीछे भागने से मन दुखी हैं। हम सभी अपने संबंधों में धोखा, स्वार्थ  या फिर गुमराह होते हैं। शारीरिक और मानसिक दोनों तरह की बीमारियाँ बढ़ रही हैं और जीवन के किसी भी क्षेत्र में, जो भी अच्छी और महत्वपूर्ण भूमिकाएँ हम अदा कर रहे हैं, वे भी एक सेकंड में बदल सकती हैं। इसलिए इन सब के बीच, सिर्फ परमात्मा ही प्यार और खुशी का एक ऐसा स्रोत हैं जो हमें कभी नहीं छोड़ते चाहे हमारे जीवन में कुछ भी हो जाए। उन पर विश्वास करके जब हम अपना पूरा जीवन उन्हें समर्पित करते हैं, तो हम हर पल मुस्कुराते हैं, अन्यथा हमारे जीवन की खुशियाँ किसी भी समय हमारा साथ छोड़ सकती हैं और ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे रिश्ते, पैसा, सैलरी, पद प्रतिष्ठा और यहाँ तक कि, हमारा खुद का भौतिक शरीर सभी ऐसे फेक्टर्स पर निर्भर हैं जो परिवर्तनशील हैं, बदलते रहते हैं। लेकिन जो निरंतर परमात्मा को अपना साथी बनाता है, उसका प्यार और खुशी दोनों सदा के लिए होती है। और ऐसा व्यक्ति ही संसार को प्यार और खुशी जैसे खज़ाने बाँट सकता है क्योंकि वो स्वयं इनसे भरपूर है। 

 

  1. अंत में हमें यह याद रखने की आवश्यकता है कि – हम सभी इस संसार रूपी रंगमंच पर एक्टर्स हैं। और हर पल लोग हमें देख रहे हैं। आज हम सभी अपनी वास्तविक सच्चाई को भूल चुके हैं कि- हम सभी आत्माओं का मूल स्वरूप प्यार और खुशी से संपन्न है पर जैसे-जैसे हम जन्म लेते गए, हमारे कर्मों की क्वालिटी कम होती गई। हमनें अपने कई जन्मों में लोगों के साथ कुछ गलत किया, जिसके कारण आज हमें दूसरों से निगेटिव एनर्जी व्यवहार और शब्दों के रूप में मिल रही है। इसलिए इस निगेटिव एनर्जी को पॉजिटिव एनर्जी में बदलने के लिए हमें सृष्टि रूपी रंगमंच पर हीरो एक्टर बनना होगा, क्योंकि एक हीरो एक्टर ही हर पल ये ध्यान रखता है कि, उसके कर्म सुंदर होने के साथ ही प्रशंसनीय भी हों, और ऐसा हीरो एक्टर ही अपने हर कर्म से सबको प्यार और खुशी का सन्देश देता है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए