Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

डूइंग से पहले बीइंग पर फोकस करना

October 14, 2023

डूइंग से पहले बीइंग पर फोकस करना

हम मनुष्य (डूइंग/ कर्ता) होने के साथ साथ बीइंग (आत्मा) भी हैं। डूइंग का अर्थ है; स्वयं को व्यस्त रखना, अपनी टू डू लिस्ट के अनुसार किए गए काम को टिक करना और दूसरों की चाहना के अनुसार भी कर्म करना। लेकिन यह सब करने के साथ ही, हमें यह देखने की भी ज़रूरत है कि, हमारा स्व माना बीइंग/ अस्तित्व (मन की स्थिति) कैसी है? और साथ ही, पहले हमारा मानना था कि, कर्म करते रहने से हमें स्व यानि अस्तित्व का अनुभव होता है। लेकिन सिर्फ स्वयं को कर्ता मान कर कर्म करने से, हमें ख़ुशी या सफलता नहीं मिलती बल्कि, पहले हमें खुश रहना है और फिर खुश रहके कर्म करना है। हम अंदर से कैसा महसूस करते हैं यह निर्धारित करता है कि, हम कैसे और कितना अच्छा काम करते हैं। अपने स्व पर फोकस करके व्यवहार में लाना, हमें प्यार और शांति देता है। अन्यथा हम अंदर से खोखलापन महसूस करते हैं और अपने उसी खालीपन को भरने के लिए, हम लोगों, चीजों और जगहों में प्यार और शांति तलाशते हैं।

हर सुबह, आपका जो भी काम है, उसे खुश होकर करने के लिए खुद को तैयार करें। और ऐसा करके, हम उस बिलीफ को बदल रहे हैं कि, हमारी खुशी हमारे द्वारा किए जाने वाले काम पर आधारित होती है तो आएं, आज से अपनी टू डू लिस्ट में किए जाने वाले कार्यों के साथ साथ अपनी स्व यानि अस्तित्व की स्थिति भी चेक करें क्या मैं ट्रैफिक जाम में धैर्य रखता हूं, क्या मैं बातचीत करते हुए सभी का सम्मान करता हूं, क्या मैं खुश होकर सारे काम करता हूं, क्या मैं अपने परिवार और दोस्तों के बीच प्यार की एनर्जी फैलाता हूं, क्या मैं अपने द्वारा उपयोग की जाने वाली हर चीज की परवाह करता हूं। नीचे शेयर की गई लाइन् का उपयोग करते हुए हमेशा ध्यान रखें- मैं तब खुश रहूँगा जब ऐसा होगा… नहीं, आप सदा खुश हैं, किसी भी चीज पर अपनी खुशी को आधारित न करें। दिन में कुछ समय के लिए पॉज लें और इस एफरमेशन को दोहराएं कि, मैं जो भी कर रहा हूं उसमें मैं खुश हूं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

जिंदगी की दौड़ में ना भागें…. प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

जिंदगी की दौड़ में ना भागें….प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

हर मनुष्य खुशियां चाहता है। हम अपने लिए खुशियों को ढूंढते रहते हैं और अपने हर एक लक्ष्य; हमारा स्वास्थ, सुंदरता, धन या अपनी भूमिकाओं

Read More »