Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

उन लोगों के प्रति भी आभार रखना - जो हमारे लिए सही नहीं!!

उन लोगों के प्रति भी आभार रखना - जो हमारे लिए सही नहीं!!

जीवन में कुछ लोगों का व्यवहार हमें असहनीय लगता है। हमें लगता है कि, वे हमारे जीवन में आए और अपने शब्दों और व्यवहार से मुश्किले पैदा कर दी, लेकिन हम यह महसूस नहीं कर पाते हैं कि, ऐसे लोग हमारी क्षमता को आजमाते हैं और हमें आगे बढ़ने और मजबूत बनने में मदद करते हैं। तो आइए, हम उनके प्रति आभार रखें, जो हमारे लिए सही नहीं थे। क्या आप मानते हैं कि अच्छे लोग आपके साथ अच्छा करते हैं, लेकिन गलत लोग आपको अच्छी सीख दे जाते हैं, इसके बारे में आपकी क्या राय है? जिस व्यक्ति ने आपके साथ गलत व्यवहार किया था, तो आप उसके बारे में, अपनी नापसंदगी रख सकते हैं, लेकिन क्या आपने कभी महसूस किया है कि, ऐसे अनुभवों से गुजरते हुए आप कितने शक्तिशाली बन गए? ऐसे में चाहे; वे कठोर हों, हमें धोखा दें, हमारी सफलता में बाधा उत्पन्न करें, हमसे झूठ बोलें या हमें नुकसान पहुँचाएँ, अंततः वे हमारे भाग्य को बदलने के साधन हैं। वे हमें किसी भी समस्या से निपटने, किसी भी परिस्थिति से उबरने और शक्तिशाली बने रहने के लिए इनडायरेक्टली मदद करते हैं। जब लोग हमारे साथ सही नहीं करते, तो हम स्वयं को अडेप्ट करते हैं, एडजेष्ट करते हैं और उनके व्यवहार पर निर्भर न होकर अपनी सोच को बदलते हैं। साथ ही,  हम अपने अहंकार को कम करते हैं, अपनी अच्छाईयों  को बढ़ाते हैं और सदैव अच्छे कर्म करने की दिशा में कार्य करते हैं। और हमारी ये स्थिति, हमें हमारी पुरानी धारणाओं को बदलने में मदद कर एहसास दिलाती है कि हमारी भावनाएं लोगों पर निर्भर करती हैं। तो, ऐसे लोगों के प्रति कृतज्ञ, दयालु और शांत रहने का अभ्यास करें। प्रतिदिन स्वयं को याद दिलाएं – मैं बुद्धिवान हूं। मैं अपने जीवन में सभी के लिए आभार रखता हूं, चाहे कोई मेरे साथ कैसा भी व्यवहार करे, मैं हमेशा उनके साथ अच्छा व्यवहार करता हूं। मैं उन लोगों को धन्यवाद देता हूं जिन्होने मुझे शक्तिशाली और विनम्र बनने की ताकत देने में मेरी मदद की।

हमेशा स्वयं को याद दिलाते रहें – कि आप पावरफुल हैं। उन सभी लोगों को धन्यवाद दें, जो आपकी जीवन यात्रा में रोल निभाकर उसका हिस्सा बनें। कई बार लोग आपके लिए सही नहीं होते हैं, वे आपसे झूठ बोलते हैं, विश्वासघात करते हैं, उपेक्षा करते हैं या आपको गाली देते हैं। परंतु याद रखें- यह उनका काम है, उनकी पसंद है। आप अपना ख्याल रखें, अपनी काबिलियत को पहचानें और स्वाभिमान में रहें और उनके प्रति आभारी रहें कि, वे आपमें सर्वश्रेष्ठ लाने का साधन बने। उनके व्यवहार की वजह से; आप अपनी सहनशीलता, अपनी शांति, अपना आत्म-सम्मान और अपने मन की स्टेबिलीटी को बढ़ा सकते  हैं। अपने और उनके लिए मन में करुणाभाव रखें। उन्हें माफ कर दें, क्योंकि वे गलत नहीं हैं, बल्की वे खुद दर्द में हैं और उसके कारण ऐसा व्यवहार कर रहे हैं। और वे हमारे पिछले कर्मों के हिसाब से अपना-अपना रोल निभा रहे हैं, और ऐसा करके वे आपको पिछले सभी हिसाब-किताब चुक्तू करने में मदद कर रहे हैं। यहां तक ​​​​कि, अगर आप क्षण भर भी असहज महसूस करते हैं, तो याद करें कि, वे आपको वह सबक और ज्ञान देने आए हैं जो आपको सीखना बाकी था। आपकी कृतज्ञता उन्हें प्रभावित करके बेहतर बनाती है। और आप इन सबसे मजबूत होकर बाहर आगे बढ़ते हैं, अपने फीलिग और इमोशन्स को जाने देते हैं, और बेहतर बनकर, सभी के लिए आभार व्यक्त करते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

व्यक्तित्व स्तर पर, अच्छाईयां हमारा ओरिजिनल नेचर है जबकि बनावटी या नकारात्मक व्यक्तित्व विशेषताएँ हम एक्वायर करते हैं। एक व्यक्ति जो जीवन भर अच्छे कर्म

Read More »