Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

17th march soul sustenance hindi

हर मिलने वाले का स्वागत मुस्कान/ अभिवादन के साथ करें

आमतौर पर गुड मॉर्निंग, गुड नाईट और ऑल द बेस्ट कहे जाने वाले ग्रीटिंग्स केवल शब्द बनकर रह गए हैं, जिनमें कोई फीलिंग नहीं होती। हम लोगों को भरपूर तरीके से शुभकामनाएं तो जरूर देते हैं, लेकिन अंदर ही अंदर हमें उनकी क्षमता (capability) पर संदेह होता हैं। तो अभिवादन करना, हाई एनर्जी वाले आशीर्वाद के समान हैं, जहां हम दृढ़ता से चाहते हैं कि दूसरे व्यक्ति के साथ  सब कुछ अच्छां ही हो। लेकिन कभी-कभी, हम इसे इतनी लापरवाही से कहते हैं कि यह केवल शब्द बनकर रह जाते है, जिनमें कोई भावना नहीं जुड़ी होती है। आईये इन शब्दों की गहराई को समझें:

  1. दिन की शुरुआत में या फिर दिन में किसी से भी पहली बार मिलने पर; सभी का उत्साहपूर्वक अभिवादन करें चाहें वे परिवार के सदस्य, पड़ोसी, अजनबी, सह-यात्री और सहकर्मी हों। यह प्यूर एनर्जी को रेडीएट करता है।
  1. क्या आप जानते हैं कि मुस्कुराने और लोगों का सही मायने में अभिवादन करने में  सिर्फ 3 सेकंड लगते हैं। एक इरादा और शुभकामना रखें, कि उनका दिन शुभ और सुंदर हो। यह उन लोगों में और प्रकृति में श्रेष्ठ वाईब्रेशन पैदा करता है। और अपने अच्छे विचारों के परिणामस्वरूप, सबसे अधिक खुशी का अनुभव आपको ही होगा।
  1. मन से, खुशी से लोगों का अभिवादन करें। किसी के पद, पोजीशन, उम्र या फिर आपके अहंकार को इसके बीच में न आने दें। हर समय, हर किसी के लिए शुभ कामनाएं रखें।
  1. यदि कोई बदले में जवाब न भी दे, तब भी अपने इस सुंदर गुण व विशेषता को बनाए रखें। और हर दिन प्रयास करते रहें और कुछ समय बाद आप देखेंगे कि कैसे आपकी पोजीटीव एनर्जी ने उन्हें और आपको कितने सुंदर तरीके से प्रभावित किया है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

व्यक्तित्व स्तर पर, अच्छाईयां हमारा ओरिजिनल नेचर है जबकि बनावटी या नकारात्मक व्यक्तित्व विशेषताएँ हम एक्वायर करते हैं। एक व्यक्ति जो जीवन भर अच्छे कर्म

Read More »