Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

मेडीटेशन के सुंदर लाभ

मेडीटेशन के सुंदर लाभ

  1. मेडीटेशन हमारे मन का एक सुंदर व्यायाम है, जिसमें हम अपने रियल स्पिरिचुअल स्वरूप व आत्मा से जुड़ते हैं और उसके गुणों का अनुभव करते हैं। साथ ही, इसके द्वारा अपने परमात्मा  (सर्वोच्च आत्मा) से जुड़ते हैं और उनके गुणों को अपने अंदर आत्मसात करते हैं।
  2. हम जितना अधिक मेडीटेशन का अभ्यास  करते हैं, उतना अधिक पॉजिटिव, प्योर और शक्तिशाली बनते हैं। ये हमारे विचारों, भावनाओं और दृष्टिकोण को पॉजिटिविटी में बदल देता  है।
  3. मेडीटेशन हमारी इमोशनल इम्यूनिटी और इनर स्ट्रेंथ को बिल्ड करता है, और जीवन में आने वाली नेगेटिव सिचुएशन से हमें सुरक्षित रखता है।
  4. साथ ही, यह हमें स्वयं को और परमात्मा को  करीब से जानने और एक दूसरे के पास आने के साथ ही, आपस में एक सुंदर संबंध बनाने में भी सक्षम बनाता है।
  5. नियमित रुप से मेडिटेशन का अभ्यास करने से, स्पिरिचुअल ज्ञान को समझना आसान हो जाता है, और हम स्पिरिचुअल ज्ञान का एंबोडिमेंट बन जाते हैं। यह हमें नए और क्रिएटिव तरीके से सोचना सिखाता है, और हमारे बिलीफ सिस्टम को इतना इंप्रूव कर देता है कि, हम बॉडी कॉन्शसनेस से सोल कॉन्शसनेस की एवेयरनेस में चले जाते हैं।
  6. वर्तमान समय में, मेडिटेशन परमात्मा द्वारा प्राप्त एक सुंदर उपहार है, और वह स्वयं हमें इसकी विधियां सिखाता है जिससे कि, हम आत्माएं अपलिफ्ट होकर, जीवन की नई रियलिटी का निर्माण कर सकें। और हमारे जीवन में ये नई रियलिटी; हमारे घरों, कार्यस्थलों और जीवन के हर दूसरे क्षेत्र में शांति, प्रेम और आनंद से भरे छोटे छोटे स्वर्ग हैं।
  7. इसके द्वारा, हमारा मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य बेहतर होने के साथ ही हमारे आंतरिक और बाहरी व्यक्तित्व में सुधार होता है और हमारे द्वारा किए हर कर्म में, हमारी दक्षता (एफिशिएंसी) और सटीकता (एक्यूरेसी) भी इंप्रूव हो जाती है। और सबसे महत्वपूर्ण बात,  ये हमारे संबंधों में संघर्ष को खत्म कर शुभकामनाओं, रेस्पेक्ट और सहयोग से भर देता है। साथ ही, हम ज्यादा ईमानदारी, सच्चाई, सफाई और सफलता के साथ धन कमाने लगते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

नींद को शांतिपूर्ण और आनंदमय बनाने के 5 टिप्स

नींद को शांतिपूर्ण और आनंदमय बनाने के 5 टिप्स

नींद; मनुष्य की वेल बीइंग के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है और यह हमारे शारीरिक, आध्यात्मिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को अत्यधिक प्रभावित करती

Read More »
आपका मन भी एक बच्चा है

आपका मन भी एक बच्चा है

मन हमारे बच्चे जैसा है। इसलिए जब हम अपनी जिम्मेदारियां निभाते हैं, तो भी हमारी प्रायोरिटी इस बच्चे की भलाई होनी चाहिए। हमें इसका सही

Read More »