Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

सुंदर और खूबसूरत रिश्ते - रोड टू सक्सेस (भाग 1)

सुंदर और खूबसूरत रिश्ते - रोड टू सक्सेस (भाग 1)

हम सभी इस दुनिया में एक क्लोज निट में रह रहे हैं जहां हमारे जीवन में रिश्तों का बहुत महत्व है जो हम सभी को आपस में एक बंधन में बांधते हैं। लेकिन दुख की बात है, कि आजकल रिश्ते उतने गहरे और सार्थक नहीं रह गए हैं, जितने पहले हुआ करते थे। हम आम तौर पर अपने कार्यस्थल पर या परिवार में और परिवार के बाहर प्रियजनों के साथ दोस्ती और कई अन्य प्रकार के रिश्तों में जल्दी ही अलगाव, तलाक और अचानक ब्रेकअप की खबरें सुनते रहते हैं। पता नहीं हम किस दिशा में जा रहे हैं? आज के रिश्ते इतने कमज़ोर क्यों हैं? अगर रिश्ते हैं भी तो, उनमें जो ख़ुशी व अपनापन था, वो आजकल है ही नहीं। लोग पहले की तुलना में एक-दूसरे से संतुष्ट नहीं हैं, रिश्तों में गुस्सा, अहंकार, ईर्ष्या, डोमिनेन्स और असुरक्षा की भावना पहले की तुलना में कहीं अधिक है। कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो अपने रिश्ते की समस्याओं को दूसरों के साथ शेअर नहीं करते हैं और चुपचाप उनमें दुखी होते रहते हैं। तो आइए, अपने प्यारे और सुंदर रिश्तों को मजबूत और निरंतर ‘शांति, प्रेम और आनंद’ पर आधारित करने के लिए कुछ बुनियादी तरीकों पर नजर डालें –

  1. हर दिन स्वयं को ‘शांति, प्रेम और आनंद’ के गुणों से भरने के लिए सुंदर और पोजीटिव एफरमेशन दोहराएं। इस तरह से इन पोजीटिव एफरमेशन के डेली अभ्यास से आपका स्वभाव इनसे भरपूर और मजबूत हो जाएगा। जितना आपके संस्कार इन तीन गुणों से भरपूर होंगे, उतना ही आपके संकल्प, बोल और कर्म भी इनसे भरपूर होते जाएंगे। परिणामस्वरूप, ये गुण आपके रिश्तों में भी रिफ्लेक्ट होंगे। आजकल रिश्तों के टूटने का सबसे महत्वपूर्ण कारण; अंदर का खालीपन और इन पोजीटिव गुणों को अपने रिश्तों में यूज न करना है। सभी रिश्तों में उम्मीदें रखना ज्यादातर समस्याओं का मूल कारण है और ऐसा इसलिये है क्योंकि, लोगों के अंदर शांति, प्रेम और खुशी के गुणों की भरपूरता नहीं है।

(कल भी जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

आपका मन भी एक बच्चा है

आपका मन भी एक बच्चा है

मन हमारे बच्चे जैसा है। इसलिए जब हम अपनी जिम्मेदारियां निभाते हैं, तो भी हमारी प्रायोरिटी इस बच्चे की भलाई होनी चाहिए। हमें इसका सही

Read More »