Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

हमारे जीवन में आने वाले सीन को सावधानी से रिकॉर्ड करना

हमारे जीवन में आने वाले सीन को सावधानी से रिकॉर्ड करना

हमारे हर विचार, बोल और व्यवहार हमारी आत्मा पर इंप्रेशन डालते हैं, और ये सीडी पर एक रिकॉर्डिंग की तरह होते हैं। इस प्रकार हम सभी आत्माओं में, हमारे सभी जन्मों की रिकॉर्डिंग का एक कलेक्शन है जो हमारे व्यक्तित्व का हिस्सा बन जाते हैं। इसलिए हमारी आत्मा के ऊपर होने वाली, प्रत्येक रिकॉर्डिंग प्योर और पॉजिटिव होनी चाहिए, क्योंकि यह न केवल हमारे इस जीवन में, बल्कि हमारे आने वाले जीवन में भी हमारे मन, शरीर और रिश्तों को प्रभावित करती है।

तो कुछ क्षण स्वयं के साथ बैठें और अपने मन से बातें करें, उसे सिखाएं कि, अपने जीवन के हर सीन पर केवल सुंदर रिकॉर्डिंग बनाने पर फोकस करें। जीवन में आने वाली अनफेवरेबल कंडीशन में नेगेटिव इमोशन न क्रिएट करें और न ही नेगेटिव एक्सपीरियंस को फील करें, हर रोज पॉजिटिव स्वाभिमान दोहराएं। ऐसा करने से, हमारे व्यक्तित्व में पवित्रता, शांति और प्रेम जैसे सुंदर गुण भरते जाते हैं। जब हम इस बात का ध्यान रखते हैं कि, हम क्या सोचते हैं, क्या बोलते हैं और क्या करते हैं, तो हमारा हर कर्म सही हो जाता है। और इससे स्वत: ही श्रेष्ठ भाग्य का निर्माण होता है।

प्रतिदिन दोहराने के लिए स्वाभिमान –

मैं प्रसन्न हूं… मैं कई परिस्थितियों को क्रॉस करता हूं… मैं जीवन में कई अनुभव क्रिएट करता हूं…और उन सभी को अपनी आत्मा पर परमानेंटली रिकॉर्ड करता हूं। मैं इस बात का ध्यान रखता हूं… कि मैं जो कुछ भी सोचता हूं, महसूस करता हूं या फिर परिस्थितियों और लोगों के साथ इंटरेक्ट करता हूं…ये सब रिकॉर्ड होता है…इस रिकॉर्डिंग में कोई रीटेक नहीं है…यह सदा के लिए है… ये हमेशा मेरे साथ रहता है। मैं केवल सही विचारों की रिकॉर्डिंग करना चुनता हूं। लोगों की कुछ आदतें जिन पर मैंने पहले रिएक्ट किया, जैसे कि…. अगर कोई गलत बातें करता है, आलोचनात्मक, आक्रामक या चालाकी करने वाला है…अब मैं उन्हें समझ गया हूँ… मैं उनकी इन आदतों का सामना स्टेबिलिटी से करता हूँ… मैं रिकॉर्ड करता हूँ कि वे मेरा अपमान नहीं कर रहे हैं… वे अपने स्वभाव के वश ऐसा करते हैं… मैं हर्ट फील नहीं करता… मैं लोगों के प्रति दर्द या रिजेक्शन फील करने के बजाय, कंपैशनेट फील करने की रिकॉर्डिंग क्रिएट करता हूं।…. अगर कोई परिस्थिति अप्रिय है… मैं उसे वैसे ही स्वीकार करता हूं… मैं उस पर सवाल नहीं करता… मैं उसका विरोध नहीं करता। मैं किसी भी सीन की नेगेटिव रिकॉर्डिंग नहीं करता। मेरी प्योर और पॉजिटिव रिकॉर्डिंग मेरे मन को शांत रखती है… मेरा तन स्वस्थ रहता है…मेरे रिश्ते मजबूत होते हैं… और वे मुझे दुआओं के पात्र बना देते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए