Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

24th feb soul sustenance - hindi

क्या आप इमोशनल भारीपन महसूस करते हैं?

आजकल शरीर के अधिक वजन को कम करने के लिए शरीर की देखभाल करना एक सामान्य बात है। लेकिन क्या हम अपने इमोशनल भारीपन को समझते है या उसका ख्याल रखते हैं? आज हम सभी ने अपने मन को अनावश्यक विचारों, दुखी व कमजोर फीलिंग्स, लिमिटेड बिलीफ़ सिस्टम (कि जो में समझता हूं, वही ठीक है) और बेकार की बातों से भारी कर लिया है। आजकल फिजिकल फिटनेस, वेट लॉस थैरेपी और डाइट चार्ट के बारे में भरपूर एवेयरनेस है, और अपने शरीर के वजन के लिए हम बहुत उपाय करते हैं। लेकिन जब इमोशनल भारीपन की बात आती है, तो हम जानते ही नहीं कि हम कितना  नेगेटीविटी का वजन लेकर चल रहे हैं?

  1. हमारे मन के अंदर के इमोशन्स को सिर्फ हम ही जान सकते है, और क्लीन कर सकते है। इस इमोशनल नेगेटीविटी को दूर करने के लिए हर दिन की शुरुआत मेडीटेशन के साथ -साथ स्पिरीचुअल पढाई पढें।
  2. इस बात पर ध्यान दें कि हम खुद के और दूसरे लोगों के बारे में क्या सोचते और महसूस करते हैं। सबको स्वीकार करें और सम्मान करें। दूसरों के बारे में बेकार की गपशप, राय रखना व आलोचना करने से दूर रहें। सबके लिए सही सोचें। जैसे हैं वैसा ही दिखाएं, दूसरों की नकल न करें और ना ही दूसरों के हिसाब से चलें।
  3. जीवन में आने वाली छोटी-छोटी परिस्थितियों को चेलेन्जेस का नाम न दें। भले आपके साथ कितना ही गलत हुआ हो, ये कभी न कहें कि मैं इसे भूल नहीं सकता या मैं इस व्यक्ति को माफ नहीं कर सकता। अपने पास्ट से फ्री रहकर ही हम अपने मन को हलका रख सकते है।

4. मन से हल्का रहने को इंपोरटेन्स दें, अपने आप से प्यार करें और अपनी लाइफस्टाइल को ईमानदारी और पोजीटीविटी से जीएं। अपने लक्ष्यों पर फोकॅस करें और उन्हें प्राप्त करने के लिए अनुशासित जीवन जीएं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए