Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

3rd april soul sustenance hindi

परमपिता परमात्मा: एक सर्वोच्च सितारा जो सदा हमारे ऊपर चमकता है (भाग 3)

हममें से हर कोई अपने जीवन में, हर कदम पर कुछ अच्छा और पोजिटीव चाहते हैं। लेकिन क्या आपने कभी अपने आसपास की दुनिया को ध्यान से देखा है कि हर कोई एक उद्देश्य के साथ अपना जीवन जी रहा है। कुछ का उद्देश्य धन कमाना, अच्छा घर- परिवार होना या अच्छी डिग्री और नौकरी होना है। परंतु ये सभी टेमपोरेरी उद्देश्य हैं। वे आपको को खुशी तो देते हैं, लेकिन, वे हमेशा या बहुत लंबे समय तक खुश नहीं रख सकेंगे। आज की भाग- दौड और व्यस्तता से भरी जिंदगी में हम इन उद्देश्यों के पीछे लगातार भागते रहते हैं और एक दिन रिएलाईज करते हैं कि इन सब के पीछे भागते हुए, जीवन के महत्त्वपूर्ण उद्देश्य को भूल गए। क्या आपने कभी सोचा है, कि मेरे जीवन का पहला और वास्तविक उद्देश्य क्या है? क्या मेरा इनर वर्ल्ड शांति, प्रेम और खुशी जैसे गुणों से भरपूर है? हमारे इस जीवन में; नौकरी आएगी और जाएगी, पैसा कभी बढ़ेगा और कभी घटेगा, जिन पारिवारिक रिश्तों ने पहले मुझे खुशी दी थी, लेकिन अब वही दर्द का कारण हैं, जिस पढाई/ डिग्री ने मुझे एक अच्छे करियर की शुरुआत दी थी, लेकिन आज उसमें भी कहीं न कहीं मुझे कुछ कमी महसूस होती है । इन सब के साथ- साथ, मैंने हमेशा अपने दोस्तों के साथ भी अच्छा समय बिताया, लेकिन आज हर कोई अपनी-अपनी लाईफ में बिजी है और उनके पास मेरे लिए समय नहीं है या फिर वे मुझे समझ नहीं पाते हैं। और मैं अकेलापन महसूस करता हूँ। मेरा शुरुआती जीवन, एक जगमगाती सफलता की कहानी था, लेकिन चलते – चलते सब कुछ पीछे रह गया, तो, यह सब क्या बताता है शायद हम खुशी के लिए, अपने जीवन में गलत उद्देश्यों का चयन करते हैं !

तो, इन सभी भौतिक और वैभव पूर्ण वस्तुएं; जो अस्थायी और परिवर्तनशील हैं और मुझे स्थायी सुख नहीं दे सकते, इन सब से अलग मेरा वास्तविक उद्देश्य क्या है? मेरे इनर वर्ल्ड में शांति, प्रेम, खुशी और शक्तियों का होना, जिसे मैं भीतर से अनुभव करता हूं न कि दोस्तों, करियर, खेल, शिक्षा और परिवार से मिले अल्पकालिक सुख का होना। तो अब हमारा अगला कदम क्या होना चाहिए? सभी के जीवन को शांति, प्रेम, सुख और शक्ति जैसे स्थायी गुणों से भरपूर करना, लेकिन भौतिक साधनों से नहीं, बल्कि उनके इनर वर्ल्ड को । और ऐसा करने में हम सबकी मदद कौन करेगा? मेरे पिता... मुझ आत्मा के पिता… हम सब आत्माओं के पिता… वे ही सर्वोच्च सितारे हैं जो हमारे ऊपर चमकते हैं और हमेशा अपने प्यार और सहयोग से, हमें आंतरिक स्तर पर भरपूर करने के उद्देश्य के लिए मार्गदर्शन कर रहे हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

जिंदगी की दौड़ में ना भागें…. प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

जिंदगी की दौड़ में ना भागें….प्रेजेंट मोमेंट को एंजॉय करें (भाग 1)

हर मनुष्य खुशियां चाहता है। हम अपने लिए खुशियों को ढूंढते रहते हैं और अपने हर एक लक्ष्य; हमारा स्वास्थ, सुंदरता, धन या अपनी भूमिकाओं

Read More »