Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

रेस्ट करें और रिफ्रेश होकर अपने मन को तरोताजा करें

रेस्ट करें और रिफ्रेश होकर अपने मन को तरोताजा करें

हम सभी अपने मन में लगातार उठने वाले विचारों की गति को धीमा करना चाहते हैं। हमारा मन एक दिन में औसतन 40,000 से 50,000 विचार उत्पन्न करता है, और उनमें से ज्यादातर नकारात्मक या फिर वेस्ट (बेकार) होते हैं, जिनसे हमारा दिमाग थक जाता है। जिसके चलते किसी काम में ध्यान केंद्रित करना, सही शब्दों का चुनाव करना या फिर सकारात्मक बने रहना कठिन हो जाता है।

अपने दिमाग को रेस्ट दें, रिफ्रेश करके तरोताजा करने के लिए इन स्टेप्स को फालो करें –

  1. हर सुबह, अपनी बॉडी, रिश्ते-नाते और काम को सही तरीके से मेनेज करने के लिए अपने मन को धन्यवाद दें।
  2. अपनी सुबह की शुरुआत 15 मिनट के मेडीटेशन के साथ करने के साथ, मन को शांति और खुशी देने वाले पोजिटीव कंटेंट पढ़ें।
  3. आपका आज का दिन कैसा बीते; इसके लिए पोजीटीव एफरमेशन क्रिएट करने के साथ उसकी कल्पना भी करें।
  4. अपने ऑफिस में किसी भी परिस्थिती या फिर लोगों से मिलते हुए, केवल उनकी सकारात्मकता पर ध्यान केंद्रित करें।
  5. अपने मन को रेस्ट देने और किसी भी नकारात्मकता से दूर रखने के लिए, हर एक घंटे में एक मिनट के लिए रुककर अपने मन के भावों को चेक करें।
  6. अच्छी नींद के लिए, सोते समय मेडीटेशन का अभ्यास करें और मन में चल रही किसी भी समस्या का समाधान करें।

अपने मन के साथ एक हेल्थी रिलेशन बनाने और इसकी क्लीन्जिंग करने के लिए इन एफरमेशन को दिन में 3 बार दोहराएं।

मैं एक शक्तिशाली आत्मा हूं… मैं अपने मन का ख्याल रखता हूं… मैं हर सुबह 15 मिनट के लिए मेडीटेशन का अभ्यास करता हूं… मैं अपने एफरमेशन स्वयं क्रिएट करता हूं… मैं दिनभर में जो करना चाहता हूं उसकी कल्पना करता हूं… मैं 15 मिनट स्पिरिचुअल ज्ञान का अध्ययन करता हूं… मैं हर स्थिति में पोजीटीवली रिएक्ट करता हूं… मैं मीडिया, सोशल मीडिया और लोगों के द्वारा मिलने वाली नकारात्मक जानकारी से दूर रहता हूं… मैं अपने मन को आराम देकर, उसे रिफ्रेश रखने के लिए हर घंटे में एक मिनट के लिए रुककर उसे पोजीटीव विचार देता हूं… मैं सोने से पहले मेडीटेशन करता हूं… यह मेरे माइंड को रिचार्ज रखता है।

इसलिये जब आप अपने विचारों को कंट्रोल करना शुरू कर देते हैं, तो आपका माइंड स्वाभाविक रूप से धीमी गति से काम करने लगता है और हर स्थिति में सही ही सोचता है। इसलिये लोगों और स्थितियों की देखभाल करने से पहले, अपने मन की देखभाल करना सबसे पहला और सबसे जरुरी स्टेप है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए