Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

आनंदमय दुनिया के लिए सहयोग के 5 कदम (भाग 3)

आनंदमय दुनिया के लिए सहयोग के 5 कदम (भाग 3)

4.आपसी मतभेदों को दूर करें और सामूहिक रूप से पॉजिटिव एनर्जी फैलाएं – अक्सर लोगों के बीच आपसी मतभेदों के चलते, नेगेटिव एनर्जी रेडिएट होती रहती है, जो रिश्तों और दोस्ती में खुशी और आपसी सद्भावना नही रहने देती। कई बार, एक-दूसरे के बीच आपसी समन्वय न होने से और दूसरों के पीठ पीछे नेगेटिव बातें करने से हमारे दोस्तों, रिश्तेदारों या फिर ऑफिस कॉलिग के ग्रुप की ऑथेंटिसिटी और स्पिरिचुअल माहौल डिस्टर्ब होकर खराब हो जाता है। इसलिए अपने ग्रुप के प्रत्येक व्यक्ति के बारे में अच्छी और पॉजिटिव बातें करें, उनकी अच्छाइयों का जिक्र करें और खुशियाँ फैलाएँ। ऐसा माना  जाता है कि, ख़ुशी का उपहार सभी उपहारों में श्रेष्ठ है। इसके अलावा, अपने ग्रुप के सभी लोगों की विशेषताओं को ग्रुप में बताएं और मधुरता और प्रेम की पॉजिटिव एनर्जी फैलाएं, जिससे ग्रुप के सभी सदस्यों में आपसी समन्वय की भावना और दिलों में खुशी पैदा होगी। साथ ही, आपसी मतभेदों को एक-दूसरे के बीच की एकता में बाधा न बनने दें। स्वभाव अलग-अलग होते हुए भी हमेशा यूनाइटेड रहें। इससे रिश्ते आनंदमय और हल्के बनेंगे और आपके पूरे ग्रुप की ऊर्जा पॉजिटिव उमंग उत्साह से भरपूर रहेगी।

5. आनंदमय दुनिया के किसी भी कार्य में अपना सहयोग दें – कई बार हम अपने काम और परिवार की देखभाल के लिए जो कुछ भी करते हैं, उसमें हमारी लाइफ का उच्च उद्देश्य कहीं खो जाता है, जो कभी-कभी हमारे स्वयं के और हमसे जुड़े लोगों को जीवन में खुशी और सफलता को महसूस नहीं करने देता। इसलिए आएं और आज ही आनंदमय दुनिया के लिए कोई एक कार्य चुनें और प्रतिदिन उस कार्य को कुछ मिनटों का समय दें। इस कार्य के अंतर्गत, लोगों के साथ बातचीत कर, आपस में खुशियाँ का लेनदेन करें। साथ ही, इस कार्य के द्वारा, कई लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाएँ। आपके द्वारा किया गया एक छोटा सा कार्य, एक आनंदमय दुनिया की नींव तैयार करेगा। आख़िरकार, हम सभी को एक साथ एक प्लेटफार्म पर आकर, पहले एक समुदाय के रूप में खुशी से रहना होगा जिससे फिर हमारी दुनिया अधिक खुशहाल, संतुष्टि और हल्केपन से भरी होगी।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए