Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

3rd march soul sustenance hindi

सफलता का अनुभव करने के लिए जरुरी 8 शक्तियाँ (भाग 5)

कल के संदेश में हमने जाना, कि दिन की शुरुआत एक दृढ संकल्प के साथ करने से, पूरे दिन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। लेकिन यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि आठ शक्तियों को व्यवहार में लाने के लिए, दृढ़ संकल्प के साथ-साथ आध्यात्मिक शक्ति और ज्ञान की भी आवश्यकता होती है। शक्तिशाली आत्मा की आंतरिक क्षमता के आधार पर, ये शक्तियां कार्य में आती हैं। दूसरी तरफ ज्ञान से हमें ये समझ मिलती है कि कब और किस शक्ति को उपयोग में लाने की आवश्यकता है। अतः ज्ञान और शक्ति दोनों का ही समान महत्व है।

अध्यात्म से हमें ज्ञान की समझ मिलती है और ये आत्मा के बारे में भी बताता है। साथ ही कर्मों की गुह्य गति का ज्ञान माना; क्रिया और प्रतिक्रिया के नियम (law of action and reaction) के बारे में भी पता चलता है। इसका अर्थ है कि हर अच्छे और बुरे कर्म का क्रमशः सकारात्मक और नकारात्मक परिणाम होता है, जिससे आत्मा को क्रमशः सुख और दुख के रूप में भोगना पड़ता है। साथ ही, ईश्वर कौन है का ज्ञान, उसके साथ संबंध का ज्ञान और हम उससे कैसे जुड़ सकते हैं और स्वयं को आठ शक्तियों से कैसे भरपूर कर सकते हैं? साथ ही विश्व नाटक मंच का ज्ञान और हम कैसे जन्म और पुनर्जन्म के चक्र में आते हैं और फिर अपनी आठों शक्तियों को खो देते हैं और कैसे उन्हें पुनः प्राप्त कर सकते हैं? और आखिर में आठ शक्तियों का ज्ञान और दैनिक जीवन में उनका व्यावहारिक उपयोग करने की विधि भी हमें आध्यात्म द्वारा ही मिलती है। आध्यात्मिकता द्वारा इन सभी पहलुओं को जानना ही आध्यात्मिक ज्ञान है। यह ज्ञान प्राप्त करने के लिए, आपको अपने दैनिक जीवन की दिनचर्या या अपने घरों को छोड़ने की आवश्यकता नहीं है। अपना कार्य करते हुए भी यह लिया जा सकता है। दूसरी ओर, यदि आपको अपने जीवन में अलग-अलग नेचर के लोगों के साथ कार्य व्यवहार में आना पडता है तो यह ज्ञान आपकी बहुत मदद कर सकता है। और यह आपको सक्षम बनाता है व्यक्तिगत और व्यावसायिक स्तर पर अनेक प्रकार के रिश्तों को कुशलता से संभालने के लिए। इसलिए परिवार में रहें, ऑफिस जाएं, व्यापार करें लेकिन उसके साथ-साथ अध्यात्म ज्ञान सुनना या पढ़ना न भूलें। ऐसा इसलिए जरुरी है, क्योंकि ज्ञान के बिना, नाही आप आठ शक्तियों का उपयोग कैसे करना है, जान पायेंगे और नाही भावनात्मक रूप से सफल होने का तरीका।

(कल जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए