Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

5 तरीकों के द्वारा अपने ऑफिस के वातावरण को आध्यात्मिक बनाऐं

5 तरीकों के द्वारा अपने ऑफिस के वातावरण को आध्यात्मिक बनाऐं

1. प्रतिदिन आध्यात्मिक ज्ञान के पॉजिटिव थॉट्स को पढ़ना और शेयर करना- हम सभी के ऑफिस या वर्किंग प्लेस के लिए एक बहुत ही सुंदर अभ्यास है; आध्यात्मिक ज्ञान के माध्यम से एक-दूसरे की प्योर और पॉजिटिव सोच के साथ जुड़ना, और इससे संबंधित कंटेंट हम हर सुबह इंटरनेट या फिर अन्य प्लेटफॉर्म जैसे कि टेक्नोलॉजी, ऑफिस के नोटिस बोर्ड के माध्यम से सभी के साथ शेयर कर सकते हैं, जहां से हर किसी को जानकारी मिल सकती है। प्रतिदिन पॉजिटिव आध्यात्मिक ज्ञान पढ़ने से, सभी के मन में पॉजिटिव थॉट्स क्रिएट होते हैं जिससे ऑफिस में आध्यात्मिक सदभाव का माहौल बन जाता है जोकि, ऑफिस के वातावरण को सुंदरता और अच्छाई के वाइब्रेशन से भर देता है।

2. सभी की स्पिरिचुअल चार्जिंग के लिए ऑफिस में एक मेडिटेशन रूम बनाना – सभी ऑफिसेज में मेडिटेशन प्रैक्टिस के लिए स्पिरिचुअल गाइडेंस के अंतर्गत, एक छोटे से शांत स्थान पर मेडिटेशन रूम बनाया जा सकता है, जहां कोई भी व्यक्ति जाकर, कुछ मिनटों के मेडिटेशन अभ्यास से स्वयं को स्पिरिचुअल एनर्जी से चार्ज कर, परमात्मा के साथ के गहन अनुभव प्राप्त कर सकता है। साथ ही, ऑफिस में लोग अपने वर्क डेस्क पर बैठे बैठे ही हर घंटे में, एक मिनट के लिए अपने मन में उठने वाले थॉट्स को कंट्रोल करने के लिए ट्रैफिक कंट्रोल का अभ्यास कर सकते हैं।

3. प्योर और पॉजिटिव एनर्जी से भरपूर पॉजिटिव बातचीत करना – एक महत्वपूर्ण बात, जो हमारे ऑफिस के वाइब्रेशन को एफेक्ट करती है, वह है कि हर कोई दूसरों के बारे में क्या सोच रहा है और क्या बात कर रहा है। क्योंकि ऑफिस में अलग-अलग व्यक्तित्व और अलग-अलग तरीकों से काम करने वाले लोग होते हैं, और अक्सर ऑफिस में लोग एक या फिर कई लोगों के सामने, एक-दूसरे के बारे में नेगेटिव व अनावश्यक टिप्पणी करते हैं। तो हम सभी को इससे बचना चाहिए और ऑफिस में “नो गॉसिपिंग” के सफल मंत्र को अपनाने से, ऑफिस की स्पिरिचुअल एनर्जी अलाइव हो जाती है।

4. इस बात का ख्याल रखना कि, ऑफिस में प्रेम, विनम्रता और सहयोग की एनर्जी मेंटेन रहे- ऑफिस के पॉजिटिव माहौल को कम करके, स्ट्रेसफुल बनाने में सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक है नेगेटिव इमोशन जैसे कि; ईर्ष्या, घृणा, आपस में तुलना करना और अति-प्रतिस्पर्धा की भावना। तो, जब हम दूसरों से आगे निकलने और उनसे बेहतर बनने की कोशिश करते हैं, तो हम एक-दूसरे के लिए पॉजिटिव वाइब्रेशन क्रिएट करना बंद कर देते हैं। और इसके विपरित, जब हम एक-दूसरे से प्यार करते हैं, आपस में विनम्र होते हैं तो इस स्वीट एवेयरनेस में हम दूसरों को अपने से आगे रख, एक पॉजिटिव वातावरण का निर्माण करते हैं।

5. पॉजिटिव फिजिकल स्टेप्स उठाने से पीस और कम्फर्ट क्रिएट होते हैं – दुनिया भर के कई ऑफिसेज में एक खूबसूरत विधि अपनाई जाती है, जिसमे ऑफिस के बैकग्राउंड में सॉफ्ट और सूथिंग मेडीटेशन संगीत बजाया जाता है। साथ ही, ऑफिस के इंटीरियर को भी इस तरह का  बनाया जाता है कि, सभी को शांति का अनुभव हो। इसके लिए हम कई फिजिकल तरीके अपना सकते हैं जैसे कि, ऑफिस की दीवारों, फ़र्निचर और पार्टीशन के लिए हल्के आध्यात्मिक रंगों और डिज़ाइनों का चयन करना, जोकि वातावरण को दिव्य और प्रकाशमय बनाते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए