Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

आशीर्वाद/ दुआओं की सकारात्मक ऊर्जा (भाग 3)

आशीर्वाद/ दुआओं की सकारात्मक ऊर्जा (भाग 3)

लोगों और स्थितियों को आशीर्वाद देना

जब हम अपने परिवार के सदस्यों, दोस्तों या फिर सहकर्मियों की ऐसी आदतें देखते हैं जो हमें लगता है कि उनके लिए सही नहीं है, तो हम अक्सर परेशान हो जाते हैं। चिंता, बेचैनी या डर की स्थिति में हम उनकी आदतों के बारे में सोचते रहते हैं और दूसरों से उनके बारे में बात करते रहते हैं। ऐसा ही हमारे जीवन में समस्याओं और परिस्थितियों आने पर भी होता है। हमें चिंता करना और किसी बात के बारे में अधिक सोचना बहुत नॉर्मल लगता है। लेकिन उन आदतों, समस्याओं और परिस्थितियों के बारे में बार-बार सोचने और बात करने से नेगेटिव वाईब्रेशन फैलते हैं उन्हें और भी मजबूत करते हैं, समस्याओं को बढ़ाते हैं। परंतु हमारे पास उन्हें चेंज करने की शक्ति है, उन समस्याओं का रुख बदलने की शक्ति है; वो है – आशीर्वाद की शक्ति।

हम अपने जीवन में जो भी पाना चाहते हैं उसकी कल्पना करें, फिर एक विचार क्रिएट करें कि, यह तो रिअल है और फिर उस विचार को लोगों या उस स्थिति तक रेडीएट करना शुरू करें। केवल वही सोचें और वही बात करें; जो आप रिअलिटी में चाहते हैं, साथ ही यह मानें कि, वह तो हो ही चुका है। ये उनकी आदतों के लिए या समस्या के लिए आशीर्वाद है। इसलिये जब हम अनजान थे तो हम नकारात्मक विचार पैदा कर रहे थे, और अब जागरूक होने के बाद सकारात्मक विचार पैदा कर रहे हैं। विचारों और शब्दों को चेंज करने से पोजीटिव एनर्जी रेडीएट होकर रिअलिटी प्रकट होने लगती है।

उदाहरण के लिए; अगर आपका बच्चा ठीक से खाना नहीं खाता या पढ़ाई नहीं करता या बड़ों की बात नहीं मानता, तो हमारे सोचने का सामान्य तरीका होता है कि- मेरा बच्चा ठीक से खाता नहीं है। काश, वो बीमार नहीं पड़े, पता नहीं उसका भविष्य क्या होगा? वह जिस तरह से काम करता है, कभी सफल नहीं हो सकता, उसका व्यवहार देखो- वह कभी नहीं बदल सकता आदि। तो, जब हम ऐसे विचार पैदा करते हैं तो, हम उस रिअलिटी को अपने संकल्पों के वाईब्रेशन देकर और मजबूत कर देते हैं और उस सिचुएशन को बड़ा बनाने की अनुमति दे रहे होते हैं। हमें उस रिअलिटी को बदलने के लिए सबसे पहले अपने विचारों को बदलना होगा। इसके लिए आशीर्वाद होना चाहिए – मेरा बच्चा बहुत ईमानदार और आज्ञाकारी है। वह हर किसी से प्यार करता है और उनका सम्मान करता है। वह ईमानदार और मेहनती है, इसलिये उसका सफल होना निश्चित है। वह संतुलित आहार खाता है जिससे वह हमेशा स्वस्थ और खुश रहेगा।

आइये, प्रतिदिन इन विचारों को क्रिएट करें, उनके वाईब्रेशन फैलाएं और अपने आशीर्वाद की शक्ति का अनुभव करें।

(कल भी जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए