Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

आंतरिक सुंदरता (इनर ब्यूटी) के तीन दर्पण (भाग 1)

September 25, 2023

आंतरिक सुंदरता (इनर ब्यूटी) के तीन दर्पण (भाग 1)

हम सभी हर दिन, अपनी बाहरी दिखावट, सजावट या साफ-सफाई को परखने के लिए दर्पण देखते हैं। लेकिन क्या हम जानते हैं कि, मानसिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक स्तर पर ऐसा कौन सा दर्पण है जो हमें यह देखने में मदद करता है कि, क्या हमारे अंदरुनी चेहरे या फिर हमारे “आध्यात्मिक स्व” में कुछ गड़बड़ है या फिर यह महसूस कराने के लिए कि, हमारे  अंदर क्या चल रहा है और हमें अपनी आंतरिक सुंदरता बनाए रखने के लिए क्या करना चाहिए?

इन सबके लिए तीन प्रकार के दर्पण होते हैं, जिनका उपयोग कोई भी व्यक्ति आंतरिक स्व को देखने या चेक करने के लिए कर सकता है, आइए उनके बारे में समझें:

पहला दर्पण आध्यात्मिक ज्ञान (स्पिरिचुअल विजडम) का दर्पण है – आध्यात्मिक ज्ञान  हमारे आध्यात्मिक सेल्फ डेवलपमेंट के लिए; माना आत्मा, परमात्मा और विश्व नाटक से संबंधित ज्ञान। हर दिन सुबह के समय, हम इस दर्पण में कम से कम 15 मिनट तक देख सकते हैं, जिसका अर्थ है कम से कम 15 मिनट तक आध्यात्मिक ज्ञान सुनना या पढ़ना, जोकि हमें हमारे इनर सेल्फ और परमात्मा से जोड़ता है, हमारी भावनात्मक और आध्यात्मिक शक्ति को बढ़ाता है, अच्छे कार्य करने के लिए मार्गदर्शन करने के साथ ही, हमें अपने जीवन के प्रति सच्चे उद्देश्य की याद दिलाता है।

हम इस दर्पण में स्वयं को बहुत स्पष्ट रूप से देख सकेगे क्योंकि, यह हमें दिखाएगा:

  1. आत्मा के मूल गुण; सुख, शांति, आनंद, प्रेम, पवित्रता, शक्ति और ज्ञान के बारे में;
  2. कैसे इन गुणों को स्वयं में धारण कर; स्वयं का और दूसरों का कल्याण किया जा सकता है;
  3. आत्मा में पैदा होने वाली कई कमजोरियों;  काम, क्रोध, लोभ, अहंकार, घृणा, भय, मोह, ईर्ष्या, दुःख आदि के बारे में, जोकि देह के भान के कारण गलत पहचान बनाती हैं, और स्पिरिचुअल सेल्फ को भूल कर, कैसे ये कमज़ोरियाँ स्वयं को और दूसरों को नुकसान पहुँचा सकती हैं;
  4. लास्ट में इन सभी कमजोरियों पर काबू पाने के ज्ञान के बारे में;

ये सभी बातें जो हम अपने दिल दर्पण में देखते हैं, हमें यह चेक करने में मदद करेंगी कि, हम जीवन में अपने विचारों, भावनाओं, दृष्टिकोण, स्वभावों, शब्दों को बोलने और कार्य करने के सही तरीके में कहां गलत हो रहे हैं और कैसे हम अपनी गलतियों में आवश्यक सुधार ला सकते हैं? साथ ही, इस दर्पण को देखने पर हमें लॉ ऑफ कर्मा (क्रिया और प्रतिक्रिया के नियम) की भी याद आएगी, जो हमें ये सुधार लाने के लिए प्रेरित करेगा।

(कल भी जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए