Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

आत्म-संदेह (सेल्फ डाउट) और असुरक्षा की भावनाओं पर काबू पाना

October 25, 2023

आत्म-संदेह (सेल्फ डाउट) और असुरक्षा की भावनाओं पर काबू पाना

असुरक्षा की एक भावना हमारी ख़ुशी को ख़त्म करके हमें हताश कर सकती है; चाहे फिर वह स्वयं के बारे में, अपने रिश्तों, स्वास्थ्य, वित्त या करियर के बारे में होने से, हमारी जीवनशैली के हर पहलू को नुकसान पहुंचा सकती है। हमें अपनी सभी वास्तविक और काल्पनिक असुरक्षा की भावना को दूर करने के लिए और अपनी क्षमता का एहसास करने और स्वयं को वैसा ही देखने की जरूरत है जैसे हम वास्तव में हैं। जैसे-जैसे आप हर कदम पर आश्वस्त होते जाएंगे, खुशी और स्वास्थ्य का अनुभव होगा। आप पिछली असफलताओं या खामियों का जिक्र करना बंद कर देंगे और अपनी पसंदीदा भाग्य बनाने के लिए तत्पर रहेंगे।

आइए चेक करें कि, क्या कोई ऐसी चीज़ है जिसके बारे में आप असुरक्षित महसूस करते हैं; शायद वो आपका स्वास्थ्य, रिश्ते नाते, करियर, वित्तीय स्टेटस या फिर जीवन? क्या आपका मन समय-समय पर आत्म-संदेह (सेल्फ डाउट) से घिरा रहता है? क्या आप अपने अच्छे न होने के सेल्फ डाउट में हैं? आज हममें से अधिकांश लोगों को असुरक्षा की भावना ने जकड़ रखा है, और अक्सर हमें इसके पीछे के कारण का भी पता नहीं होता कि, हमें यह क्यों महसूस करते हैं। ज्यादातर केसों में इसका सोर्स वह नकारात्मक जानकारी है जो हम अपने आस पास से या मीडिया से प्राप्त करते हैं। जब हम किसी चीज़ के बारे में असुरक्षित महसूस करते हैं, तो हम खुद पर, अन्य लोगों पर या परिस्थितियों पर पूरी तरह से भरोसा नहीं कर पाते हैं। तो आइए इसे ठीक करने के तरीकों में सबसे पहले; लंबे समय तक अपने मन में नकारात्मक बातचीत को जारी न रखें, क्योंकि तब असुरक्षा हमारा व्यक्तित्व बन जाती है। असुरक्षा हमारे भय, संदेह या चिंता के गलत विचारों के कारण होती है। इन सबके विपरीत हम आशावादी, आत्म-विश्वास और सकारात्मकता के विचारों को एप्लाई करके इसे समाप्त कर सकते हैं। अपनी शुद्ध और रियल अवेयरनेस के द्वारा अपने मन को सकारात्मक इनर टॉक में बिज़ी रखें। स्वयं को सकारात्मक और आशावादी एनर्जी से भरपूर रखें। हर दिन स्वयं को याद दिलाएं – मैं सेफ और सिक्योर हूं। मेरा जीवन श्रेष्ठ है। मेरे पास आवश्यक्तानुसार सबकुछ है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए