Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

अहंकार की जगह दृढ़ता को चुनें

April 6, 2024

अहंकार की जगह दृढ़ता को चुनें 

अपने दैनिक जीवन में हम सभी अलग-अलग रोल प्ले करते हैं, इसलिए ये जरूरी है कि, लोग हमसे प्रभावित हों और हम जैसे परिणाम चाहते हैं, वैसे हमें प्राप्त हो सकें। अक्सर हम सभी इसकी शुरुआत विनम्रतापूर्वक अपनी बात रखने से करते हैं, लेकिन फिर भी कभी-कभी हम अहंकार में आ जाते हैं। आइए कुछ पॉइंट्स पर नजर डालें:

 

1.दृढ़ता से अपनी बात रखना, एक तरह का कौशल है जिसे प्रैक्टिस द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। अपनी ओपिनियन, जरूरतों और फीलिंग्स को व्यक्त करने के लिए कम और सही शब्दों का चुनाव करें। इस दौरान हमारा पूरा फोकस अपने लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में होना चाहिए, नाकि बातचीत को जीतने में।

 

2.याद रखें कि, आप एक प्योर बीइंग से बात कर रहे हैं। हो सकता है कि, दूसरा व्यक्ति आपके व्यू का विरोध करे या उस पर प्रश्न उठाए, आपके साथ रूड बिहेवियर करे। फिर भी उनके इस व्यवहार के प्रति सहानुभूति रखें। स्वयं के प्रेम स्वरूप को ध्यान में रखते हुए, उनकी बातों को धैर्यता से सुनें।

 

3.उनके दृष्टिकोण को समझने के लिए अपने स्वयं के दृष्टिकोण से डिटैच हो जाएं। उनकी चिंताओं को पहचानकर, उसके पीछे के कारण का पता लगाएं। जब वे खुद को आपकी नजरों में मूल्यवान महसूस करेंगे, तब वे आपके दृष्टिकोण का समान करेंगे और आपकी बात को समझेंगे, स्वीकार करेंगे।

 

4.सबकी सहमति मिलने के बाद, शांति से सभी को उनकी जिम्मेदारियों के बारे में बताएं, समय सीमा तय करें, नियम और सम्मान के साथ लोगों को अनुशासित करें।

 

5.अपनी वैल्यूज के साथ कभी भी समझौता न करें। रिज़ल्ट की चिंता किए बिना, दृढ़ता से उनपर डटें रहें।

 

इस प्रकार अहंकार की जगह दृढ़ता का चुनाव, लोगों को आपके साथ रहने और कार्य करने में सहज बनाएगा। जब आप लोगों का, चाहे वो जैसे भी हैं उसके लिए सम्मान करेंगें, तब वे भी आपका सम्मान करेंगे।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए