अपने जीवन में 6 प्रकार की संतुष्टता लाएं

October 2, 2023

अपने जीवन में 6 प्रकार की संतुष्टता लाएं

क्या मैं स्वयं से संतुष्ट हूँ – जीवन में आगे बढ़ने के लिए स्वयं से, अपने संस्कारों से, अपने विचारों, शब्दों और कार्यों से तथा मैं कैसा महसूस करता हूँ; उससे संतुष्ट रहना बहुत महत्वपूर्ण है। साथ ही, हमें यह समझने की भी जरूरत है कि, जो लोग हमेशा खुद से संतुष्ट रहते हैं, वे हमेशा सकारात्मक ऊर्जा रेडीएट करते हैं और साथ ही अपने जीवन में सकारात्मक परिस्थितियों को आकर्षित करते हैं।

क्या मैं दूसरों से संतुष्ट हूं – अपनी भूमिकाएं, जिम्मेदारियां और रिश्ते निभाते समय हम कई तरह के लोगों के संपर्क में आते हैं, जिनके संस्कार अलग-अलग होते हैं। तो हमें हर पल यह चेक करने की ज़रूरत है कि, क्या मैं हर व्यक्ति से संतुष्ट हूं या फिर कोई ऐसा व्यक्ति भी है जिसे मैं पसंद नहीं करता हूं? लेकिन हमें जानना चाहिए कि, हमारे हर रिश्ते को खूबसूरत बनाने से हम अधिक शक्तिशाली महसूस करते हैं और हल्के भी रहते हैं।

क्या दूसरे मुझसे संतुष्ट हैं – जबकि मेरा दूसरों से संतुष्ट होना जरूरी है, लेकिन हमें यह भी चेक करना होगा कि, क्या दूसरे मुझसे संतुष्ट हैं। इसके लिए; मैं जितना अधिक अपने गुणों और संस्कारों में सुंदर और भरपूर होता हूं, उतना ही दूसरों के लिए अच्छा और सकारात्मक सोचता हूं, फिर वे मेरे करीब आते हैं और मुझे उनकी संतुष्ट्ता का सर्टिफिकेट मिल जाता है।

क्या मैं परमात्मा से संतुष्ट हूं – आध्यात्मिकता हमें परमात्मा के साथ एक सुंदर रिश्ते में बंधना सिखाती है, जिसके बिना हमारा जीवन अधूरा, खोखला और खाली है। वे आध्यात्मिक पिता के रूप में हमें सहारा देते हैं, आध्यात्मिक शिक्षक के रूप में हमारे साथ अपना ज्ञान साझा करते हैं और एक आध्यात्मिक गुरु के रूप में वह हमें अपने से जुड़ना सिखाते हैं। तो हमें उनसे ये सभी प्राप्तियाँ अनुभव करते समय, यह चेक करना होगा कि, क्या मैं हर कदम पर उनसे संतुष्ट हूँ?

क्या परमात्मा मुझसे संतुष्ट हैं – वे हमें अनेकों गुणों और शक्तियों से भरकर एक सुंदर आत्मा बनाते हैं। तो जब मैं निरंतर उनके द्वारा दी गई शिक्षाओं और निर्देशों का पालन करता हूं, कभी भी उनकी अवज्ञा नहीं करता, तो मुझे उनसे संतुष्टता का सर्टिफिकेट मिलता है और मैं सदा के लिए उनके प्यार और आशीर्वाद से भरपूर महसूस करता हूं।

अंत में; क्या मैं अपने जीवन से संतुष्ट हूं – हम अपने इस जन्म और पिछले कई जन्मों में किए गए कर्मों के आधार पर; इस जीवन में अपनी सभी परिस्थितियों के निर्माता हैं। इस सच को जानकर मैं अपने जीवन से संतुष्ट रहता हूं, हर परिस्थिति को स्वीकार करता हूं और वर्तमान में सुंदर और सकारात्मक कार्य करके अपने लिए एक सकारात्मक भविष्य का निर्माण करता हूं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए