Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

अतीत को लेट गो करने की 7 तकनीकें (भाग 1)

October 4, 2023

अतीत को लेट गो करने की 7 तकनीकें (भाग 1)

हममें से बहुत से लोग अपने जीवन में अतीत में घटित हुई नकारात्मक घटनाओं का भारी या सूक्ष्म बोझ ढोते हैं, या तो वे निकट अतीत की या फिर कुछ समय पहले की घटना हो सकती है; जो हमारे आज की संतुष्टता के लेवल को बेहद कम कर देती है। नकारात्मक अतीत किसी भी रूप में हो सकता है – हमारे किसी रिश्ते के ख़त्म होने या किसी करीबी प्रियजन को अचानक खोने का अनुभव, किसी गंभीर शारीरिक बीमारी या फिर वित्तीय हानि के बहुत बुरे दौर से गुज़रने का अनुभव, आपके साथ मानसिक या शारीरिक स्तर पर दुर्व्यवहार किया गया हो; कार्यालय में किसी सहकर्मी द्वारा आपके साथ उचित व्यवहार नहीं किया गया हो और फिर आपका अनुचित लाभ उठाया गया हो; आपने कोई अनुचित कार्य किया हो और कई वर्ष बीत जाने के बाद भी आप आज तक उसका  पश्चाताप कर रहे हैं और इसी तरह की और भी कई प्रकार की घटनाएं हो सकती हैं।

हमारी अवेयरनेस से नकारात्मक अतीत की यादों को हटाने के लिए तीन अलग-अलग प्रकार की प्रक्रियाएँ हैं:

संशोधन (मोडिफाई) करना – जहां अतीत की एक नेगेटिव घटना को सकारात्मक, लाभदायक रूप में मोडिफाई करके अवेयरनेस में लाया जाता है।

भूलना (फॉरगेटिंग) – किसी नकारात्मक अतीत की घटना से संबंधित यादें भुला दी जाती हैं और फिर न तो वे हमारी बातचीत का हिस्सा होती हैं और नाही हमारी अवेयरनेस वा विचारों में मौजूद होती हैं, लेकिन फिर भी उन यादों के निशान हमारे सब कॉन्शियस (अवचेतन मन) में जरूर मौजूद होते हैं।

मिटाना (इरेजिंग) – नकारात्मक अतीत का कोई भी निशान हमारी अवेयरनेस में नहीं रहता है और साथ ही उससे संबंधित यादें भी हमारे अवचेतन मन से मिट जाती हैं।

ऊपर बताए गए सभी प्रॉसेस के लिए; हमें आध्यात्मिकता के विभिन्न पहलुओं या तकनीकों की मदद लेने की आवश्यकता है। तो आने वाले दो दिनों के संदेशों में हम आध्यात्मिकता की 7 विभिन्न तकनीकों और उनके महत्व के बारे में जानेंगे, जिन्हें अपने जीवन में शामिल करने से; हमें अतीत की कड़वी यादों से इमोशनल फ़्रीडम मिलेगी, और साथ ही जो हमें हल्केपन का अनुभव करने में भी मदद करेंगी।

(कल भी जारी रहेगा…)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए