Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

अतीत को लेट गो करने की 7 तकनीकें (भाग 3)

October 6, 2023

अतीत को लेट गो करने की 7 तकनीकें (भाग 3)

सुधार लाना (करेक्शन) – अतीत की यादें; आत्मा पर एक छाप या प्रभाव छोड़ती हैं। जिनमें से कुछ छाप गहरी होती हैं और कुछ नहीं। अतीत के नकारात्मक अनुभव हमारी आत्मा पर बहुत गहरे नकारात्मक प्रभाव या निशान छोड़ जाते हैं, जिन्हें ठीक होने में कभी-कभी बहुत समय लग जाता है और कभी-कभी उनके ठीक हुए बिना ही पूरा जन्म बीत जाता है। नकारात्मक अतीत के अनुभवो के निशान और क्रोध, घृणा, भय, दर्द, अपराधबोध जैसी नकारात्मक भावनाएं आपस में गहराई से जुड़ी होती हैं। इसलिए, स्व को सही करने के लिए सकारात्मक संस्कारों से स्वयं को भरपूर करने से आध्यात्मिक स्व वा आत्मा सकारात्मक प्रभावों से भर जाती है। और समय के साथ साथ, अतीत की नकारात्मक बातों के प्रभाव को और परिणामस्वरूप, उससे संबंधित नकारात्मक यादें ख़त्म हो जाती हैं।

दान करना (डोनेशन) – दान को केवल आध्यात्मिक ट्रांसफॉर्मेशन के माध्यम से अनुभव की गई प्राप्तियों को; दूसरों के साथ बांटने के आधार पर ही परिभाषित किया जा सकता है। यह हमें उन लोगों की दुआएं, उनके आशीर्वाद या सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त करने में मदद करता है जिन्हें हम दान करते हैं और हमारे जीवन को एक केंद्रित सकारात्मक उद्देश्य देता है, जो हम दोनों को अपने अतीत को भूलने में मदद करता है। क्या आप जानते हैं कि, जो लोग केवल अपने लिए जीते हैं उनको अपने अतीत को भूलने में उन लोगों की तुलना में अधिक मुश्किल होगा; जो दूसरों के लिए भी जीते हैं। इसे हम ऐसे भी कह सकते हैं कि, दूसरों को ख़ुशी देने से हमें अपने दुःखों को भूलने में मदद मिलती है।

बातचीत करना (इंटरएक्शन) – जितना अधिक हम सकारात्मक सोच रखने वाले वाले लोगों के साथ बातचीत करते हैं, उनके साथ रहते हैं और सकारात्मक ऊर्जा का लेन देन करते हैं; उतना ही अधिक हमारी अवेयरनेस से हमारा अतीत मिटता जाता है। साथ ही, आध्यात्मिकता हमें अपने अंदर की दुनिया को देखना और अंतर्मुखता का अनुभव करना सिखाती है, जिसे हमने कई जन्मों से अनुभव नहीं किया होता है। और यह हमें अपने अंदर और बाहर की दुनिया को देखने और उसे संतुलित रखना भी सिखाती है। सबसे सुंदर बात है कि, शांतचित और संतुलित अंतर्मुखता और बाह्यमुखता और पॉजिटिव माइंडेड लोगों के साथ; स्वस्थ और खुशहाल रिश्ते हमें वर्तमान अवेयरनेस में रहने में मदद करते हैं, जिससे हमारे मन को अतीत में बहुत अधिक भटकने की जरूरत महसूस नहीं होती है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए