Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

ज्ञान का मंथन करके, उसके फायदे अनुभव करें (भाग 3)

May 27, 2024

ज्ञान का मंथन करके, उसके फायदे अनुभव करें (भाग 3)

जब भी आप दिन की शुरुआत करें, तो अपने मन में कुछ पॉजिटिव थॉट क्रिएट करें। अब इन थॉट्स को मन में रखते हुए, उनके बारे में सोचते हुए, वॉक पर जाएं या अपने दिन की तैयारी करें। इसके साथ-साथ आप यह भी सुनिश्चित करें कि, ऐसा करने से पहले आप कुछ ऐसा पढ़ें जो आपके माइंड को पॉजिटिव थॉट्स से भर दे। क्योंकि यदि खाली दिमाग पॉजिटिव सोचने या पॉजिटिव थॉट्स क्रिएट करने की कोशिश करता है, तो वह आसानी से थक जाता है और वास्तव में तनाव महसूस करता है। इसके लिए आप चेक कर सकते हैं कि, किसी दिन आप अपने मन को पॉजिटिव इन्फोर्मेशन देकर पॉजिटिव थॉट्स क्रिएट करने का प्रयास करें और किसी और दिन अपने खाली माइंड या फिर बिना किसी पॉजिटिव इन्फोर्मेशन के पॉजिटिव थॉट क्रिएट करें और दोनों के बीच का अंतर देखें। आप पाएंगे कि, पॉजिटिव थॉट से भरपूर मन में गहराई से सोचने पर जो एनर्जी और उत्साह आप अपने अंदर महसूस करते हैं, वह खाली माइंड से कहीं ज्यादा होता है।

 

इस पूरे प्रॉसेस की तुलना, हम क्रीम मथकर मक्खन निकालने से कर सकते हैं। यदि आप क्रीम के बिना एक खाली बर्तन को मथने का प्रयास करते हैं, तो क्या आपको मक्खन मिलेगा या यदि आप थोड़ी सी क्रीम से भरे एक बर्तन को मथने का प्रयास करते हैं, तो क्या आपको हाई क्वॉलिटी का मक्खन मिलेगा? या आप थकान का अनुभव करेंगे? उसी तरह, जब आपके माइंड में जानकारी होती है, तो आप आध्यात्मिक ज्ञान या विवेक के नए दृष्टिकोण, व्यू पॉइंट्स जोड़कर उसे और अधिक शक्तिशाली बना सकते हैं और अपनी पॉजीटिव जानकारी को बढ़ा सकते हैं। इसे ही कहा जाता है कि, आध्यात्मिक ज्ञान का मंथन करके आध्यात्मिक शक्ति वाला मक्खन तैयार करना। इसलिए, हमेशा अपने माइंड में ढेर सारी अतिरिक्त जानकारी के साथ, पॉजीटिव एफरमेशन का बैकअप रखना न भूलें जोकि एक ऐसे कुशन की तरह काम करता है जिस पर आप आराम करते हैं और ज्ञान के पॉइंट्स को एप्लाई करते हैं। यह एक बंद कमरे में गेंद फेंकने और उस गेंद का एक दीवार से दूसरी दीवार पर अपने आप उछलने जैसा है। उसी तरह, ज्ञान का मंथन करना यानि कि चर्निंग; केवल जो पढ़ा है सिर्फ उसे दोहराना नहीं है, बल्कि अपने माइंड रूपी कमरे में ज्ञान की हलचल पैदा करना है। इसके परिणामस्वरूप, हमें खुशी का अनुभव करने में मदद मिलती है। और ऐसी मेंटल एक्सरसाइज को कई दिनों तक करने से हमारी आत्मा शक्तिशाली हो जाती है और हमारा मन मजबूत होता है। वास्तव में, यह हमें बेहद पॉजिटिव बनाकर, उन नेगेटिव और अनावश्यक थॉट्स से मुक्त करता है, जिनमें हम बार-बार इंडल्ज होकर अपनी मानसिक शक्ति को खो देते हैं।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

आपका मन भी एक बच्चा है

आपका मन भी एक बच्चा है

मन हमारे बच्चे जैसा है। इसलिए जब हम अपनी जिम्मेदारियां निभाते हैं, तो भी हमारी प्रायोरिटी इस बच्चे की भलाई होनी चाहिए। हमें इसका सही

Read More »