Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

ज्ञान को विवेक में बदलें

June 28, 2024

ज्ञान को विवेक में बदलें

हम सभी किसी न किसी ऐसे व्यक्ति को जानते ही होंगे, जिसके पास अच्छा ज्ञान तो है लेकिन वह बुद्धिमान यानि वाइज नहीं दिखता। हमारे दिमाग़ में ज्ञान; संग्रहीत डेटा या जानकारी का एक बंडल है। जब हमारी बुद्धि ज्ञान के आधार से गुजरती है, तब केवल उपयोगी जानकारी का उपयोग करती है, ताकि इसे हर परिस्थिति में बुद्धिमानी (विवेकपूर्ण तरीके) से लागू किया जा सके। ज्ञान; तथ्यों और सूचनाओं को एकत्रित करने के बारे में है, जबकि हमारा विवेक या बुद्धिमत्ता उस ज्ञान को जीवन की परिस्थितियों में उपयोग करने के बारे में है। इसका मतलब है कि ज्ञान एक उपहार है जो हमारे पास एक बड़ी जिम्मेदारी के साथ आता है, इसलिए इसका मंथन करना, अपने जीवन में लागू करना और फिर विवेक में परिवर्तित करना जरूरी है। बुद्धिमत्ता हमें सिखाती है कि कैसे सही तरीके से सोचना चाहिए और सही ढंग से जीना चाहिए। आइए इसके बारे में समझें:

 

  1. अपने मन को परमात्मा के ज्ञान से भरपूर करने के लिए प्रतिदिन सुबह 15 मिनट के लिए मेडीटेशन करें और 15 मिनट आध्यात्मिक ज्ञान का अध्ययन करें। ऐसा करने से आपका दिमाग सही दिशा में सोचेगा और हर परिस्थिति को स्पष्ट रूप से समझेगा। आपकी पसंद और निर्णय, तर्क-वितर्क पर आधारित होंगे। 
  2. अपने आंतरिक ज्ञान के आधार पर सही और गलत में अंतर करें। बाहर से अर्जित की गई जानकारी, लोगों की राय या समाज द्वारा बनाए गए बिलिफ सिस्टम को आधार न बनाएं। वे आपके लिए सही भी हो सकते हैं और नहीं भी। स्वयं से प्रश्न पूछें, अपने मन को शांत करें और अपनी बुद्धि को उत्तर देने की प्रतीक्षा करें।
  3. ज्ञान खोजने और प्राप्त करने का प्रॉसेस कभी न खत्म होने वाला एक प्रयास है। जितना अधिक आप इसे प्राप्त करते जाते हैं, आपके आंतरिक गुण; विनम्रता, ईमानदारी, प्रेम, करुणा, सच्चाई और साहस उतने ही गहरे होते जाते हैं। ये आपको अपने सिद्धांतों पर कायम रहने और हर समय जो सही है उसके लिए खड़े रहने में मदद करते हैं।
  4.  जब आप मीडिया या सोशल मीडिया पर किसी गहरे संदेश को पढ़ते या सुनते हैं, तो उनसे आश्चर्यचकित न हों। बल्कि स्वयं से पूछें- यह कैसे मेरे लिए रिलेवेंट है? समझने के बाद इसे अपनी परिस्थितियों में अप्लाई करें। ज्ञान को आत्मसात करना माना इसे अपने विवेक, अपने सत्य और अपने व्यक्तित्व का हिस्सा बनाना।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए