Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

हर दिन स्वयं को और अधिक क्रिएटिव बनाएं

November 21, 2023

हर दिन स्वयं को और अधिक क्रिएटिव बनाएं

हम सभी चाहते हैं कि हमारा माइंड क्रिएटिव (रचनात्मक) हो, और जैसे ही हमारे दिमाग में कोई विशेष थॉट आता है, तो हमें आश्चर्य होता है कि हमने इसके बारे में पहले क्यों नहीं सोचा। हम अक्सर खुद से यह कहते हैं कि – मैं क्रिएटिव नहीं हूं, मैं नए विचार नहीं क्रिएट कर सकता... पर सच तो यह है कि हम सभी में रचनात्मक क्षमताएं हैं, लेकिन हम उसका पूरी तरह से उपयोग नहीं कर पाते हैं। इसलिए  अगर हम अपने माइंड की सही तरीके से देखभाल करें, तो यह हमें हर समय कई रचनात्मक विचार और संभावनाओं से भरपूर कर सकता है।

 

  1. विचार ही हमारे शब्दों और कार्यों का आधार हैं। रचनात्मकता का मतलब है कि हम सोचने के नए तरीके अप्लाई करते हैं, जो हमें हमारी चॉइसेस, निर्णय, कार्य और आपस में बातचीत के लिए सही प्रतिक्रियाएँ चुनने में मदद करते हैं।

 

  1. अपने मन को शांत करने के लिए हर सुबह मेडिटेशन का अभ्यास करें। अपने सब कॉन्शियसमाइंड (अवचेतन मन) में सोच के नए सीड्स बोने के लिए आध्यात्मिक ज्ञान का अध्ययन करें। आप पाएंगे कि इसके बाद आपके विचार आपकी सहज बुद्धि द्वारा क्रिएट होंगे नाकि बाहरी प्रभावों से।

 

  1. चाहे कोई काम हो, रिश्ता हो या फिर कोई स्वास्थ्य समस्या हो, कुछ समय के लिए पॉज लें। जीवन के इन सीन्स में, सही और सटीक रिएक्शन या समाधान के लिए अपने विवेक का सहारा लें।

 

  1. रचनात्मकता की मूल एनर्जी शक्ति है। जब आप रचनात्मक होंगे, तो परिस्थितियाँ चुनौतीपूर्ण होने या लोगों का व्यवहार ठीक न होने पर भी आप स्थिर रहेंगे। यहां तक कि अगर आज आप किसी दृश्य में कोई प्रतिक्रिया देते हैं, तो भविष्य में इसपर अलग तरीके से रिएक्ट करने पर विचार करेंगे और कल्पना करेंगे।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए