Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

Eng

Saaf aur saral dil ke saath logon se milein

September 5, 2023

साफ़ और सरल दिल के साथ लोगों से मिलें

अगर आपके किसी ऑफिस कुलीग से आज कोई गलती हो गई है तो क्या वह कल भी वैसे ही करेगा? यदि आज आपके परिवार के किसी सदस्य का व्यवहार आपके प्रति रूड था, तो क्या वह कल भी वैसे ही व्यवहार करेगा? लेकिन हममें से बहुत से लोग बेहतर कल की आशा करने के बजाय, नकारात्मक निष्कर्ष पर पहुंच जाते हैं कि – ये लोग कभी नहीं बदलेंगे! परंतु चाहे हमें एहसास हो या न हो, लेकिन हर पल- हर क्षण लोगों में बदलाव आता है, चाहे वो अच्छे के लिए हो या खराब के लिए। इसका मतलब यह है कि, आज जिन लोगों की वजह से हमने मुश्किल समय देखा, कल वे हमें सुखद अनुभव भी करा सकते हैं। बस हमें इस बात का ध्यान रखना है कि, हम अच्छाई के लिए बदलें जैसे कि लोगों को वैसे ही स्वीकारें जैसे वे हैं, और सबके प्रति सम्मानजनक और दयालुता का भाव रखें। क्योंकि शिकायत और आलोचना करने से हमारी एनर्जी भी क्षीण होती है। यह भी समझें कि, हो सकता है कि उस व्यक्ति का दिन आज अच्छा नहीं रहा होगा, इसलिये स्वयं के साथ-साथ उन्हें भी आशीर्वाद दें: कि उनके साथ मेरी अगली बातचीत बहुत सुंदर और सुखदायी होगी। हमारे वाईब्रेशन हमें एनरजाईज करके उन्हें भी एमपावर करती हैं। हर एक दिन और हर एक घंटा एक नई शुरुआत है। तो आइए, हर बार साफ-सुथरी सोच के साथ लोगों से मिलें – अपने मन से अप्रिय यादों, धारणाओं और पहले से ही गलत सोच रखने की आदत को हटा दें।

इसके साथ ही, यह जानना भी जरूरी है कि, चाहे हमें इसका एहसास हो या न हो, हम सभी हर पल; बहुत सारी जानकारी के कारण, पिछले अनुभवों के कारण या फिर बदलने की हमारी इच्छा के कारण बदल रहे हैं। हम और बाकी अन्य लोग भी कल, या फिर पिछले महीने से या पिछले साल से बदल चुके हैं। इस तरह से जब हम लोगों के प्रति पुरानी धारणाओं को हटाते हैं, तो अगली बार मिलते हुये हम उन्हें पहले से बेहतर पाते हैं। अतः आज सभी के साथ बेहतर तरीके से बातचीत करने के लिए स्वयं को तैयार करने के लिए कुछ समय निकालें। जब आप अपनी पिछली मुलाकात के आधार पर बनाई गई धारणा का फ़िल्टर हटाते हैं, तो आप लोगों को वैसे ही देखते हैं जैसे वे आज हैं। आप अतीत का जिक्र करना बंद कर देते हैं, ताकि अतीत की ऊर्जा से वर्तमान या भविष्य को प्रभावित न हो सकें| ऐसा करने से आप खुद को, अपने रिश्तों को ठीक कर लेंगे और साथ ही शुद्ध वाईब्रेशन रेडीएट करेंगे।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

अच्छाईयों की अपनी ओरिजिनल स्टेट में वापस आएँ (भाग 2)

व्यक्तित्व स्तर पर, अच्छाईयां हमारा ओरिजिनल नेचर है जबकि बनावटी या नकारात्मक व्यक्तित्व विशेषताएँ हम एक्वायर करते हैं। एक व्यक्ति जो जीवन भर अच्छे कर्म

Read More »