Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

स्वयं खुशियों का अनुभव करें और दूसरों को कराएं (भाग 2)

February 15, 2024

स्वयं खुशियों का अनुभव करें और दूसरों को कराएं (भाग 2)

अपने दिन की शुरुआत मन में खुशियों के विचार भरकर करें। आप कुछ इस तरह से संकल्प क्रिएट कर सकते हैं जैसेकि, आज पूरे दिन मैं सभी मिलने वालों को मुस्कान भरा उपहार दूंगा या हर एक की विशेषता को स्मृति में रख, खुशी का अनुभव करूंगा। इसके  अलावा, आज पूरे दिन के दौरान मैं जिस किसी से भी मिलूंगा, उनके प्रति अपनी पॉजिटिव इमोशंस को व्यक्त करूंगा। और हम ऐसा भी सोच सकते हैं कि, आज पूरे दिन मैं अपने गुणों को एक्शन में लाकर, स्वयं हल्का अनुभव करूंगा और दूसरों को भी यही अनुभूति करवाऊंगा। 

 

ऐसे विचारों से हमारे आस-पास का माहौल खुशियों भरा रहेगा और हम जिन्हें भी खुशियां देंगे, बदले में हम भी खुशियां पाएंगे। इससे हमारा पूरा वातावरण खुशियों से भरा हुआ होगा। क्योंकि खुशी की शुरुआत जब खुद से होती है तो दूसरों को खुशियां देने से पहले उसकी अनुभूति हमें होती है। या यूं कहें कि, खुशी का उपयोग करके ही खुशी को अनुभव किया जा सकता है। इसके लिए, पूरे दिन में जब भी किसी से मिलो तो स्वयं को चेक करो कि, क्या मैंने सामने वाले से साधारणता के साथ बात की या फिर मैंने उनके साथ खुशियां बांटी और उन्हें चिताओं और बोझ से मुक्त किया? आखिरकार यह मेरा कर्तव्य है कि मैं हर मिलने वाले को अनलिमिटेड खुशियां दूं। यह खुशी की भावना ही हम सबको एक साथ बांधती है। खुशियां बांटने से हमारा जीवन सुंदर और हमारा अस्तित्व सार्थक बनता है। अक्सर, काम करने के समय या फिर किसी अन्य एक्टिविटी करते हुए हम व्यस्त हो जाते हैं, उस दौरान भले ही हम कोई भी नकारात्मक कार्य नहीं करते हैं, लेकिन अपने आंतरिक सद्गुणों से कुछ समय के लिए कनेक्शन लूज होने के कारण हमारी खुशी कम हो जाती है।

(कल भी जारी रहेगा)

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए