Brahma Kumaris Logo Hindi Official Website

EN

सकारात्मक विचारों से सकारात्मक स्वास्थ्य बनाएं

January 2, 2024

सकारात्मक विचारों से सकारात्मक स्वास्थ्य बनाएं

हम सभी जानते हैं कि हमारे विचार हमारे शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं। हमारे प्रत्येक विचार का प्रभाव शरीर की कोशिकाओं पर पड़ता है। जिसकी वजह से, आज बहुत सी बीमारियाँ साइकोसोमेटिक वा मनोदैहिक हैं; जिसका सीधा सा अर्थ है कि तनाव, क्रोध, भय, दर्द, अविश्वास, ईर्ष्या, अपराधबोध जैसी नकारात्मक भावनाएँ बीमारी के रूप में प्रकट होती हैं। इसलिए अब अपने स्वास्थ्य पर सकारात्मक भावनाओं के प्रभाव पर ध्यान दें। प्रत्येक शक्तिशाली और सकारात्मक विचार जैसे कि; प्रेम, शांति, खुशी, क्षमा, स्वीकृति, प्रशंसा, विश्वास और उमंग उत्साह हमारे शरीर की कोशिकाओं पर प्रभाव डालते हैं। लेकिन यह केवल उस समय के लिए नहीं है जब हमारी जिंदगी में उतार चढाव हैं, बल्कि यह सारे इमोशंस हर समय हमारे विचारों में होने चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि हम अपने इमोशनल ब्लॉकेज, अतीत की चोट, नाराजगी, दूसरों को माफ करने और उन बातों को भूलने में सक्षम न होने के अपने बिहेवियर को दूर करें, इसके लिए बस एक विचार क्रिएट करने की कमी है। परिस्थिति कुछ दिन या वर्षों पहले भले ही घटित हुई हो, लेकिन अगर हम आज भी उन भावनाओं को महसूस कर पा रहे हैं, तो हमारे जीवन में इमोशनल ब्लॉकेज हैं, जिसने मेरे शरीर की एनर्जी को डिस्टर्ब करना शुरू कर दिया है।

 

आज जब हम ट्रीटमेंट के बारे में बात करते हैं, तो हम हमेशा शारीरिक बीमारी को ठीक करने पर फोकस करते हैं, लेकिन अगर हम बीमारी की जड़ यानि कि इमोशनल ब्लॉकेज को ही खत्म नहीं करेंगे, तो शारीरिक बीमारी फिर कभी भी दोबारा हो सकती है। अगर हम हर बार क्रोध के स्थान पर करुणा; आक्रोश की जगह क्षमा; संदेह के ऊपर विश्वास; प्रतिस्पर्धा के ऊपर सहयोग; आलोचना के स्थान पर सराहना चुनते हैं; तो हम बीमारी के स्थान पर स्वास्थ्य को चुन रहे हैं। आएं, अपने शरीर के संबंध में मन में उठने वाले हर विचार को जानें- चाहे वह हमारे दिखने के तरीके के बारे में हो; हमारे स्वास्थ्य के बारे में हो; या फिर एक लत जिसे हम छोड़ना चाहते हैं, के बारे में हो- यह सब हमारे शरीर को मैसेज देते हैं जिसका शरीर पालन करता है। अपने मन को डिटॉक्सिफाई करें और हर पिछली याद के दर्द को मिटा दें, क्योंकि मन को डिटॉक्सिफाई करने से शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन शुरू होता है।

नज़दीकी राजयोग सेवाकेंद्र का पता पाने के लिए

अपने पास्ट से सीखें

अपने पास्ट से सीखें

क्या आपने अपनी पास्ट लाइफ में की गई गलतियों से कुछ सीखने की उम्मीद से कभी झांकने की कोशिश करते हुए आखिर में, स्वयं को

Read More »
एक्सपेक्टेशन न करें

एक्सपेक्टेशन न करें

आप सभी ने अपने जीवन में, कभी न कभी ये अनुभव किया होगा कि, आप अपने साथ काम करने वाले कलीग को उसके प्रोजेक्ट पूरा

Read More »