Foundation of Golden India is Sacrifice & Duty

Launching event through virtual event
0 Comments

त्याग और कर्तव्य भाव से करोड़ों देशवासी रख रहे स्वर्णिम भारत की नींव – पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने किया आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर अभियान का आगाज, सात अभियानों को पीएम ने दिखायी हरी झंडी, पूरी दुनिया भर से जुड़े लाखों लोग


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को ब्रह्माकुमारीज संस्था के आबू रोड स्थित शांतिवन परिसर में आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर अभियान का वर्चुअल शुभारंभ किया। इसके साथ सात अभियानों को हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि त्याग और कर्तव्य भाव से करोड़ों देशवासी आज स्वर्णिम भारत की नींव रख रहे हैं। राष्ट्र की प्रगति से ही हमारी प्रगति है। यही भाव एक ताकत बन रहा है। सबका साथ, सबका विकास और सबका प्रयास देश का मूलमंत्र बन रहा है। हम ऐसी व्यवस्था बना रहे है जिसमें भेदभाव की जगह ना हो। ब्रह्माकुमारीज संस्थान का प्रभाव पूरे विश्व में है। मुझे उम्मीद है आने वाले समय में इस अभियान में एक नयी उर्जा का संचार होगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस अभियान में स्वर्णिम भारत के लिए भावना भी है और साधना भी है। अपनी व्यक्तिगत उपलब्धियों के लिए इदं न मम् का भाव जागने लगता है तो समझिए हमारे संकल्पों के जरिए एक नए कालखंड का जन्म होने वाला है। एक नया सवेरा होने वाला है। प्रधानमंत्री ने ब्रह्माकुमारी बहनों से आह्नान किया कि हमारा दायित्व है कि दुनिया भारत को सही रूप में जाने। ऐसी संस्थाएं जिनकी एक अंतरराष्ट्रीय उपस्थिति है, वे दूसरे देशों के लोगों तक भारत की सही बात को पहुंचाएं। भारत के बारे में जो अफवाहें फैलाई जा रही हैं, उनकी सच्चाई वहां के लोगों को बताएं, जागरूक करें, ये हम सबका कर्तव्य है। ब्रह्माकुमारी विश्व के हर देश से अपनी हर एक ब्रांच से 500 लोगों को भारत दर्शन के लिए लाएं। जो यहां आकर भारत की अच्छाइयों को समझेंगे और विश्व में लेकर जाएंगे। भारत की आध्यात्मिक सत्ता आप सभी ब्रह्माकुमारी बहनें इसी परिपक्वता के साथ निभाएं।
इस अवसर पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारा देश हमेशा से वसुधैव कुटुम्बकम की भावना वाला रहा है। शांति, अहिंसा, एकता और सदभाव हमारे मूलमंत्र है। यह बहुत खुशी की बात है कि ब्रह्माकुमारीज के 4 हजार केन्द्रों से  इसे बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि बचपन से ही यहां आता रहा हूं। यहां दादियों ने मुझे मूलमंत्र दिया है कि जब भी तनाव हो तो तीन बार ओम शांति बोलना। यह संस्थान आने वाली पीढ़ी को अच्छे संस्कार देने का कार्य कर रही है।
लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि यह अभियान स्वर्णिम भारत की झलक और आधुनिक भारत की छवि दिखाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यहां की आध्यात्मिक जीवनशैली समाज को नई दिशा दिखा रही है। संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री जे किशन रेड्डी ने कहा कि अमृत महोत्सव के तहत ब्रह्माकुमारीज के आयोजनों से दुनिया को नया रास्ता मिलेगा। इसके तहत संस्थान का 15 हजार कार्यक्रमों के जरिए 10 करोड़ लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा है।
गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज अच्छा काम कर रही है। आजादी के अमृत महोत्सव से जन-जन को लाभ मिलेगा। इस अभियान से समाज में अच्छा संदेश जाएगा, इसलिए  ब्रह्माकुमारीज को बधाई देता हूं। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज संस्थान के अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी बीके मोहिनी ने कहा कि सभी के जीवन मूल्यों का विकास हो उसके लिए हम सबको मिलकर कार्य करना चाहिए। संस्थान के महासचिव बीके निर्वेर, अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन तथा कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये। समारोह में राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र, संस्थान की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी, संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी बीके मुन्नी, फिल्म निदेशक सुभाष घई समेत कई लोग उपस्थित थे। ग्रेमी अवार्ड विनर रिक्की केज की ओर वीडियो एलबम भी रिलीज किया गया।


इन सात अभियानों का प्रधानमंत्री ने किया शुभारंभ-
1. मेरा भारत स्वसथ भारत के तहत वैक्सीनेसन अभियान: गांव-गांव में लोगों के लिए वैक्सीन लगाने और जागरूक करने।
2. आत्मनिर्भर किसान: किसानों को यौगिक-जैविक खेती के प्रति जागरूक करने।
3. महिलाएं नए भारत की ध्वजवाहक अभियान
4. ‘अनदेखा भारत’ साइकिल रैली
5. सडक़ सुरक्षा के लिए देशभर में 150 बाइक रैली- एक बाइक रैली में 75 बाइक शामिल होंगी। सभी रैलियों को मिलाकर 25 हजार किमी की दूरी तय की जाएगी।
6. आबू रोड से दिल्ली जाने वाली ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ मोटरसाइकिल रैली रवाना
7. युवाओं को सशक्त बनाने के लिए ‘बस यात्रा’ और ‘स्वच्छ भारत अभियान’


ब्रह्माकुमारी संस्था से प्रधानमंत्री के तीन बड़े आह्नान
1. नागरिकों में कर्तव्य भावना का विकास करें, 2. भारत की सच्चाई को दूसरे देशों के लोगों तक पहुंचाएं- 3. आत्म निर्भर भारत को दें गति

Choose your Reaction!
Leave a Comment

Your email address will not be published.